हवाला घोटाले के मुख्य आरोपी और कोयला कारोबारी के ठिकानों पर छापे के बाद मिले अहम दस्तावेज

Reported By: Vijendra Pandey, Edited By: Renu Nandi

Published on 16 Jan 2019 07:12 PM, Updated On 16 Jan 2019 08:21 PM

जबलपुर। मध्यप्रदेश में करीब ढाई हज़ार करोड़ रुपयों के हवालाकांड की जांच कर रहे आयकर विभाग की टीम को, कटनी में छापामार कार्रवाई के दौरान अहम दस्तावेज मिले हैं। बता दें कि हवाला घोटाले के मुख्य आरोपी और कटनी के कोयला कारोबारी सतीश सरावगी के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई के बाद खुलासा हुआ है कि नोटबंदी के दौरान बोगस कंपनियों के ज़रिए करोडों रुपयों की ब्लैकमनी को व्हाइट किया गया है।


ये भी पढ़ें -न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और संजीव खन्ना को चीफ जस्टिस बनाए जाने का विरोध, राष्ट्रपति को 


बताया जा रहा है कि कोयला कारोबारी सतीश सरावगी के साथ रीवा के मनीष गुप्ता, संजय मिश्रा, कटनी के अरुण गोयल और दिल्ली के चंद्रभूषण बजाज की पार्टनरशिप सामने आई है। इन कारोबारियों की महाकालेश्वर ग्रुप , मोहित मिनरल्स और महाकाल माईन्स के नाम से कंपनियां संचालित है। इनमें दिल्ली के कारोबारी चंद्रभूषण बजाज की भूमिका कागजों पर चलने वाली फर्जी पेपर कंपनी चलाने में सामने आई है जिसकी मदद से 1700 फर्जी पेपर कंपनियों के ज़रिए 500 करोड़ रुपयों की ब्लैकमनी, व्हाईट की गई। ख़ास बात ये है कि बोगस कंपनियां ऐसे मज़दूरों के नाम पर संचालित की जाती रहीं जिन्हें अपने नाम पर कोई कंपनी होने की भनक तक नहीं थी। फिलहाल मामले की जांच कर रहे आयकर विभाग के अधिकारी जल्द ही औपचारिक तौर पर बड़ा खुलासा करने की बात कह रहे हैं।

Web Title : Important documents found after the raid on the coal dealer

जरूर देखिये