बिलासपुर में हुआ छत्तीसगढ़ के प्रथम संवेदना केंद्र का उद्घाटन

Reported By: Renu Nandi, Edited By: Renu Nandi

Published on 15 Feb 2018 07:17 PM, Updated On 15 Feb 2018 07:17 PM

बिलासपुर पुलिस इन दिनों अपने नेक काम से सभी का दिल जीत रहा है। इसी कड़ी में आज बिलासपुर ज़िले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ़ एच शेख़ ने ज़िले में महिला सशक्तीकरण की ओर एक अनूठी व अभिनव पहल की है.उन्होंने पुलिस को महिलाओं के प्रति अधिक संवेदनशील बनाने हेतु आज बिलासपुर के तोरवा थाने में महिलाओं हेतु संवेदना केन्द्र का उद्घाटन किया इस कार्यक्रम में पुलिस महानिरीक्षक  दीपांशु काबरा के मुख्य आतिथ्य के रूप में शामिल हुए। 

 संवेदना केंद्र मुख्यतः सखी सेंटर की तरह ही कार्य करेगा  क्योंकि थानो में ही पीड़िताये सबसे पहले आती हैं जहाँ उन्हें देखभाल की आवश्यकता होती है। संवेदना कक्ष एक मल्टीपर्पस सेंटर है जहा महिला पुलिस स्टाफ़ कुछ देर विश्राम कर रेफ़्रेश व मोटिवेट होती हैं।  साथ ही साथ थाने में आने वाली महिला पीड़िताये भी इस कक्ष का उपयोग कर सकती हैं। पीडिताओ की देखभाल हेतु थाना स्तर पर एक कमेटी भी बनायी गयी है जिसमें चिकित्सकीय परामर्श के साथ उन्हें विधिक सहायता भी मुहैया करायी जाएगी ।

 

ये भी पढ़े - बिलासपुर आईजी ने महिलाओं की मदद में उठाये खास कदम

 

संवेदना केंद्र की सबसे प्रमुख विशेषता यह है की यहाँ महिलाओं की आवश्यकता की हर सामग्री उपलब्ध है , यहाँ सेनेटरी पैड मशीन लगायी गयी है जिसमें 5 रु का सिक्का डाल कर पैड प्राप्त किया जा सकता है , साथ ही इसके डिस्पोज़ल हेतु भी पृथक मशीन लगायी गयी है। बिलासपुर पुलिस अधीक्षक आरिफ़ एच॰शेख़ पहले ऐसे पुलिस अधिकारी है जिन्होंने महिलाओं के प्रति संवेदना को मूर्त रूप देते हुए उनकी मूलभूत आवश्यकताओं की ओर ध्यान दिया तथा उसकी प्रतिपूर्ति भी की ।

महिलाओं में  झिझक को दूर करने के लिए पुलिस महानिरीक्षक श्री दीपांशु काबरा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री आरिफ़ एच॰ शेख़ ने स्वयं napkin के साथ फ़ोटो भी खिचायी ।बिलासपुर ज़िले के अन्य थानो में भी इसी प्रकार संवेदना केंद्र का निर्माण किया जाएगा।

 वेब टीम IBC24

Web Title : In Bilaspur opening of Chhattisgarh's first compassion center

जरूर देखिये