शातिर बैंड मास्टर बाप-बेटे पुलिस की गिरफ्त में, राजधानी के बहुचर्चित बोथरा हत्या कांड की जुड़ रहीं कड़ियां

Reported By: Tehsen Zaidi, Edited By: Rupesh Sahu

Published on 14 Mar 2019 10:04 PM, Updated On 14 Mar 2019 10:04 PM

रायपुर । राजधानी समेत दुर्ग में हुई लूट के आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद रायपुर पुलिस शातिर आरोपियो को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की तैयारी में है। हालांकि लूट के सभी मामलों का खुलासा दुर्ग रेंज पुलिस ने किया है,लेकिन रायपुर पुलिस गैंग के तीनों आरोपियों को जल्द रिमांड पर लेकर काफी पुराने और बहुचर्चित बोथरा हत्या कांड के बारे में भी पूछताछ करेगी।

ये भी पढ़ें-कार से जब्त हुए 9 लाख, व्यापारी के पास नहीं मिले नगदी से संबंधित वै...

लूट का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि कहने को तो दुर्ग के रहने वाले ये बाप-बेटे बैंड बजाने का काम करते थे, लेकिन हकीकत में इनका पेशा लूट का था। शातिर बाप बेटे ऐसे किसी भी व्यक्ति को टारगेट कर यूपी बिहार से किराये के लुटेरे बुलाते थे,और उनकी मदद से बड़ी वारदातों को अंजाम देते थे। आरोपियों ने कट्टे की नोंक पर न्यू राजेन्द्र नगर, डीडी नगर और टिकरापारा इलाके में भी लूट की घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने बताया कि इस गैंग में करीब 20 से 30 सदस्य हैं जो बदल-बदल कर यहां आते थे और लूट-हत्या जैसी वारदातों को अंजाम देते थे।

ये भी पढ़ें-सरकार हर ग्रेजुएट को रोजगार नहीं दे सकती, मप्र की राज्यपाल ने स्वरो...

पुलिस को आरोपियों से पूछताछ में 26 जून 2016 को हुए सराफा कारोबारी पंकज बोथरा हत्याकांड के भी कुछ सुराग हाथ लगे हैं। पुलिस ने दोनों आरोपी देवी प्रसाद बसोड और मनीष बसोड समेत इलाहबाद निवासी संजय उर्फ महेश वर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। आरोपियों के कई और साथियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम दिल्ली और यूपी रवाना की जा रही है।

Web Title : In the arrest of the vicious band master father-son police the linkages of the capital's most popular murder case

जरूर देखिये