मलेरिया से मौत के मामले में ये राज्य दूसरे नंबर पर, हर साल करीब डेढ़ लाख लोग होते हैं मलेरिया से पीड़ित

Reported By: Vinay Verma, Edited By: Vivek Mishra

Published on 25 Aug 2019 08:22 AM, Updated On 25 Aug 2019 08:22 AM

रायपुर। मलेरिया से मौत के मामले में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे नंबर पर है। यहां हर साल औसतन करीब डेढ़ लाख लोग मलेरिया से पीड़ित होते हैं। यह आंकड़ा देशभर आंकड़ों का 13 फीसदी है। इस साल जुलाई तक का ही आंकड़ा 30 हजार के पार जा चुका है।

ये भी पढ़ें: बहरीन यात्रा पर पीएम मोदी की इन मुद्दों पर बातचीत, कई क्षेत्रों में सहयोग के लिए MoU साइन

मच्छरों के जरिए फैलने वाली बीमारियों में छत्तीसगढ़ दूसरे राज्यों से कहीं आगे है। WHO की रिपोर्ट के अनुसार दुनियाभर में हर साल करीब 10 लाख लोगों की मौत मच्छरों के काटने के कारण होती है। छत्तीसगढ़ में भी यह आंकड़ा कम नहीं है। साल 2017 में 1 लाख 40 हजार, तो साल 2018 में 78 हजार से अधिक लोग मलेरिया की गिरफ्त में थे। यहां दूषित पानी और गंदगी मच्छरों के लिए अनुकूल माहौल बना रहे हैं।

ये भी पढ़ें: निगम बोध घाट पर आज 2 बजे होगा पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का अंतिम 

मच्छरों के जरिए फैल रहे डेंगू की बात करें, तो छत्तीसगढ़ में पिछले साल लगभग 3000 लोग इससे ग्रस्त थे। वहीं दो दर्जन से ज्यादा मौतें इससे हो चुकी हैं। इधर रायपुर CMHO का कहना है कि पिछले साल जैसी स्थिति न बनें, इसके लिए सतर्कता बरतते हुए कैंप लगवा रहे हैं। राज्य सरकार ने डेंगू को महामारी मानने से भी इंकार कर दिया है। वो भी तब, जब हजारों लोग इसकी चपेट में हैं।

ये भी पढ़ें: कश्मीर से लौटकर राहुल गांधी बोले- हालात सामान्य नहींं, राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने ​कही 

राज्य में मच्छरों से फैलने वाली बीमारियों के साथ ही स्वाइन फ्लू और पीलिया जैसी बीमारियां भी लोगों की जान ले रही हैं। औसतन हर महीने 4 लोगों की मौत स्वाइन फ्लू से हो रही है। वहीं पीलिया हर माह 2 जाने ले रही है। जाहिर है स्वास्थ्य विभाग को इसकी रोकथाम के लिए जमीनी स्तर पर काम करना होगा।

 

Web Title : In the case of death from malaria, this state is second, there are about one and a half million people suffering from malaria every year

जरूर देखिये