एक्सप्रेस-वे कार्य प्रभारी को हटाने के निर्देश, स्वतंत्र एजेंसी को जांच का जिम्मा, मरम्मत कार्य रोकने के आदेश

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 14 Aug 2019 04:16 PM, Updated On 14 Aug 2019 04:16 PM

रायपुर। लोकार्पण से पहले ही एक्सप्रेस-वे में हादसे के बाद इसके निर्माण और गुणवत्ता को लेकर उठ रहे सवाल के पर सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। एक्सप्रेस वे के प्रभारी कार्य अभियंता को प्रभार से हटाने के निर्देश जारी कर इसकी स्वतंत्र एजेंसी से जांच के आदेश जारी किए गए हैं।

पढ़ें- मीका पर ऑल इंडिया सिने वर्कर्स ने लगाया बैन, देश का कोई भी शख्स मीका के साथ क.

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने जांच के निर्देश दिए हैं। मुख्य तकनीकी परीक्षक कार्यालय को जांच का जिम्मा सौंपा गया है। तकनीकी परीक्षक कार्यालय सामान्य प्रशासन विभाग के अधीन कार्य करता है। जांच में IIT, NIT के विशेषज्ञों की भी मदद ली जाएगी। इसके साथ ही क्षतिग्रस्त सड़क में हो रहे मरम्मत कार्य को रोकने के भी आदेश दिए गए हैं।

पढ़ें- डीसीपी ने की खुदकुशी, सर्विस रिवॉल्वर से मारी गोली

बता दें हाल में एक्सप्रेस वे पर हादसे में एक कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। गनीमत रही कि दुर्घटना में कार सवार दंपति को गंभीर चोट नहीं आई। लोकार्पण से पहले ही तेलीबांधा से लगे एक्सप्रेस वे की सड़क धंस गई थी। रात में एक्सप्रेस से गुजर रहे एक कपल की कार धंसी सड़क में अनियंत्रित होकर पलट गई।

पढ़ें- जम्मू में 15 के बाद मिलेगी पाबंदी में छूट, इंटरनेट और फोन सेवा बहाल...

घटना में कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। हादसे में कार में सवार महिला का पैर फैक्चर हो गया जबकि पति के सिर पर भी चोट आई थी। दोनों ने इसकी शिकायत की थी। शिकायत के आधार पर एक्सप्रेस वे के निर्माण और गुणवत्ता पर सवाल उठाए गए, जिसके बाद सरकार ने इसकी जांच के आदेश दिए थे।

पढ़ें- पॉर्न देखने के शौकीन हैं तो हो जाइए अलर्ट, अश्लील फिल्म देखते समय ब...

सेक्स रैकेट का पर्दाफाश

Web Title : Instructions to remove the charge of expressway work

जरूर देखिये