नवरात्र पर है आचार संहिता के पहरेदारों की नज़र

Reported By: Renu Nandi, Edited By: Renu Nandi

Published on 10 Oct 2018 04:22 PM, Updated On 10 Oct 2018 04:22 PM

जबलपुर।  शक्ति के पर्व नवरात्र पर भी इस बार आचार संहिता के पहरेदारों की नज़र होगी। नज़र इस बात पर रखी जाएगी की भक्ति के इस महापर्व का इस्तेमाल राजनैतिक रूप से न हो। जबलपुर में शांति समिति और राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के साथ कलेक्टर और एसपी ने बैठक ली इस बैठक में जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज ने सभी लोगों को आचार संहिता का पाठ पढ़ाया है। 

ये भी पढ़े -ओडिशा में तितली का आगमन,मौसम विभाग ने दी चेतावनी

 कलेक्टर छवि भारद्वाज का कहना है की दुर्गा उत्सव के दौरान भी आचार संहिता लागू रहेगी और चुनाव में खड़े होने वाले प्रत्याशियों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि वह यदि किसी दुर्गा उत्सव कार्यक्रम का राजनीतिक फायदा लेते हुए नजर आए तो उस दुर्गा उत्सव कार्यक्रम को उस प्रत्याशी के चुनाव खर्च में जोड़ दिया जाएगा। कलेक्टर छवि भारद्वाज का कहना है कि यदि किसी भंडारे का उपयोग किसी पार्टी विशेष या राजनीतिक दल के प्रत्याशी के फायदे में किया गया तो उस भंडारे का पूरा खर्चा चुनाव प्रत्याशी के चुनाव खर्च में जोड़ दिया जाएगा और इन सब क्रियाकलापों की मॉनिटरिंग के लिए चुनाव आयोग ने शहर में 8 टीमें बनाई हैं जो कैमरों के साथ चौबीसों घंटे फील्ड में रहेंगी और आचार संहिता के दौरान निगरानी करेंगी। 

ये भी पढ़ें -दिल्ली में एक ही परिवार के तीन लोगों की चाकू मारकर हत्या

इतना ही नहीं रात दस बजे के बाद कोई दुर्गा पंडाल लाउडस्पीकर नहीं बजा सकेगा और ना ही देर रात तक आरतीओं का सिलसिला चल सकेगा कुल मिलाकर इस बार का दुर्गा उत्सव आचार संहिता के दायरे में होने के संकेत नजर आ रहे हैं। यदि चुनाव आयोग पूरी सक्रियता से काम करेगा तो कम से कम राजनीति और धर्म अलग अलग हो सकेंगे। अब देखना यह होगा कि शहर में कई धार्मिक कार्यक्रम राजनीतिक दलों के नेताओं के जरिए होते आ रहे हैं और इनसे राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश भी की जाएगी सवाल ये उठता है कि क्या राजनीतिक दल पीछे हटेंगे या फिर धार्मिक कार्यक्रम राजनीति का अखाड़ा बन जाएंगे। 

वेब डेस्क IBC24

Web Title : Jabalpur News:

जरूर देखिये