मप्र: यशवंत के बाद वित्त मंत्री जयंत मलैया ने भी माना की सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 28 Sep 2017 05:44 PM, Updated On 28 Sep 2017 05:44 PM

 

पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने मौजूदा वित्त मंत्री अरूण जेटली पर अर्थव्यवस्था का कबाड़ा करने का आरोप लगया...इस बयान के बाद बीजेपी में हड़कंप मचा हुआ है। तो अब मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने भी माना कि जीएसटी के बाद अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी हुई है। हालांकि सरकार उपाय कर अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिश कर रही है। जयंत मलैया के मुताबिक देश भर के लाखों और मध्यप्रदेश के 85 फीसदी से अधिक कारोबारियों को मासिक रिटर्न भरने से छूट मिल सकती है। मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने जीएसटी काउंसिल की बैठक में यह मुद्दा उठाया था। इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली समेत काउंसिल के सदस्यों ने सुझाव पर सहमति जताई। यदि सब कुछ ठीक रहा तो देशभर के लाखों व्यापारियों को इसका लाभ मिल सकेगा और डेढ़ करोड़ रुपए सालाना टर्नओवर तक के व्यापारियों को हर महीने रिटर्न भरने से राहत मिलेगी।

बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा बोले, अरूण जेटली भारतीयों को गरीबी बनाने पर तुले

लेकिन साथी मंत्री के विचार मलैया से अलग 

मध्य प्रदेश में वित्त मंत्री जयंत मलैया भले ही जीएसटी के बाद अर्थव्यवस्था मंदी होने की बात कहे पर प्रदेश सरकार में उनके सहयोगी मंत्री रामपाल सिंह जयंत मलैया की बात से इत्तफाक नहीं रखते। रामपाल सिंह ने कहा है की जीएसटी के कारण विकास के कामो में कंही कोई कमी नहीं आयी है। रामपाल सिंह ने कहा है कि जो भी निर्णय लिए जा रहे सोचसमझ कर लिए जा रहे है और जीएसटी का लाभ भी पूरे देश को मिलेगा। सत्या कुशवाह और सुधीर डंडोतिया आईबीसी24, *खबर पर आप अपनी राय कमेंट बाक्स में लिखकर हमें मार्गदर्शित कर सकते है।

 

Web Title : Jayant Malaiya also believed that the economy is dull

जरूर देखिये