प्रदेेश कांग्रेस कमेटी ने झीरम घाटी मामले में मौखिक सुनवाई के लिए दिया आवेदन

Reported By: Manoj Singh, Edited By: Renu Nandi

Published on 22 Jan 2019 05:13 PM, Updated On 22 Jan 2019 05:13 PM

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ शासन और प्रदेेश कांग्रेस कमेटी ने झीरम घाटी हत्या कांड के विषय में आयोग के सामने आवेदन पेश कर मामले में लिखित की बजाये मौखिक सुनवाई करने के लिए अनुरोध किया है।
ये भी पढ़ें -कुंभ मेले में सुर्खियां बटोर रहे मचान वाले बाबा, 44 साल से ज़मीन पर नहीं रखे हैं कदम

बता दें कि इस अनुरोध के पीछे ये तर्क दिया गया है कि लिखित रूप में जवाब देने से आयोग को सुनवाई में ज्यादा वक्त लगेगा और ये जांच आयोग की फाइनल रिपोर्ट के लिए भी टाइम टेकिंग होगा। कांग्रेस द्वारा दिए गए पत्र को आयोग ने स्वीकार कर लिया है लेकिन आयोग की तरफ से इस पर कोई फैसला अभी नहीं आया है।


ये भी पढ़ें -अन्ना हजारे का बयान- मेरे पास राफेल से जुड़े कुछ कागजात, पढ़ने के बाद 

ज्ञात हो कि इससे पहले 7 जनवरी को हुयी सुनवाई में आयोग ने कांग्रेस की उस याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें कांग्रेस ने पुर्व मंत्रियों और नेताओं को गवाही में बुलाए जाने का अनुरोध किया था। आयोग ने कहा है कि इस मामले में पहले ही 68 गवाहों की गवाही हो चुकी है और कांग्रेस को पर्याप्त समय दिया जा चुका है। .इसके बाद शासन की तरफ से नोडल अधिकारी दीपांशु काबरा और प्रदेश कांग्रेस कमेटी की तरफ से विवेक बाजपेयी ने आयोग में मौखिक सुनवाई के लिए आवेदन पेश किया है।

Web Title : jhiram ghati case

जरूर देखिये