भार्गव के खिलाने-पिलाने वाले बयान पर भड़के कमलनाथ, कहा- 'ये परंपरा बीजेपी की रही है, आप अच्छे से वाकिफ होंगे'

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 12 Jul 2019 03:14 PM, Updated On 12 Jul 2019 03:14 PM

भोपाल। विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव के खिलाने-पिलाई वाले बयान पर सीएम कमलनाथ ने कटाक्ष किया है। उनके मुताबिक खिलाने पिलाने वाली परंपरा बीजेपी की रही है। भार्गव पर तंज कसते हुए कमलनाथ ने कहा कि आप इस परंपरा से अच्छी तरह वाकिफ होंगे। कमलनाथ ने आगे मंत्रियों को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने वाले बयान पर कहा कि हमारे सभी मंत्री कैबिनेट मंत्री बनने लायक हैं इसलिए उन्हें बनाया गया।

पढ़ें- मिड डे मील में अंडा बांटने के विरोध पर मरकाम की दो टूक, कहा- विकल्प मौजूद है, इसे तूल न दें

सदन में भार्गव के बयान पर हंगामा होने के बाद नेता प्रतिपक्ष ने उनकी बात का गलत मतलब निकालने की बात कही। उन्होंने सफाई दी कि खिलाने-पिलाने का मतलब केयर टेकर से है, अच्छी परंपरा है अगर मौका मिला तो अनुसरण करेंगे।

पढ़ें- नागिन धुन पर ऐसे थिरके आईपीएस अधिकारी.. बन गए 'झोल टू राम'.. देखें ...

बता दें सदन की कार्यवाही के दौरान गोपाल भार्गव ने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा था। भार्गव ने कमलनाथ सरकार को अंदर से खोखला और बजट को भी खोखला बताया था। इस बयान के बाद सदन में जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद भी भार्गव ने कमलनाथ कैबिनेट पर तंज कसा और कहा कि विचित्र सरकार है, सभी को कैबिनेट मंत्री बना दिए। भार्गव ने मंत्रियों के डिनर पर भी जमकर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि विधायकों को खिलाने-पिलाने की जिम्मेदारी मंत्रियों को सौंप दी गई है। भार्गव के इस बयान पर सदन में जमकर हंगामा हुआ। सत्ता पक्ष ने गोपाल भार्गव के बयान को विधायकों का अपमान बताया।

पढ़ें- सदन में दिवंगत नेताओं के लिए रखा गया 2 मिनट का मौन, सोमवार तक कार्यवाही स्थगित

छत्तीसगढ़ी गानों पर जमकर थिरके आईपीएस अधिकारी.. देखिए

Web Title : kamalnath counter attack on gopal bhargaw's statement in bhopal

जरूर देखिये