कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की महिला कर्मचारियों ने पुरूष लेखापाल पर लगाया दुर्व्यवहार करने का अरोप

Reported By: Satish gupta, Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 16 Apr 2019 10:29 PM, Updated On 16 Apr 2019 10:29 PM

कोरिया: जिले के मनेन्द्रगढ़ विकासखण्ड के बंजी स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय का विवादों से चोली दामन का साथ रहा है। सुर्खियों में बने रहने वाला यह आवासीय विद्यालय एक बार फिर सुर्खियों में है। यहां महिला अधीक्षिका और महिला लेखापाल, पुरुष लेखापाल से परेशान हैं। वैसे तो बालिका छात्रावास में पुरुषों को नौकरी में नहीं रखे जाने का प्रावधान है लेकिन इसके बाद भी यहा एक महिला लेखापाल के होते हुए पुरुष लेखापाल की पदस्थापना अपर कलेक्टर द्वारा कर दी गई।

Read More: DMK उम्मीवार कनिमोझी के घर पर इनकम टैक्स की दबिश, कार्यकर्ता कर रहे घर के बाहर प्रदर्शन

छात्रावास में पुरुष लेखापाल की पदस्थापना के बाद से ही यहां आए दिन विवाद के मामले सामने आ रहे है। यहां कार्यरत महिला लेखापाल आकांक्षा सिंह व अधीक्षिका अनिता आचार्या ने लेखापाल संजय सोनी पर छात्रावास के फाइनेंशियल रिकॉर्ड गायब करने साथ ही महिला कर्मचारियों से बदतमीजी करने व दुर्व्यवहार करने के आरोप लगाए है। दोनों महिला कर्मचारियों का कहना है कि छात्रावास में पुरुष कर्मचारी के कार्य करने से यहां आए दिन तनाव की स्थिति बनी रहती है।

Read More: मंत्री कवासी लखमा का रोचक अंदाज, नजर आए गाते-बजाते और नाचते, देखिए

छात्रावास में दो लेखापाल की नियुक्ति के पीछे जो बात सामने आई है वह यह है कि संजय सोनी की नियुक्ति लेखापाल के तौर पर कस्तूरबा छात्रावास जनकपुर में हुई थी। लेकिन संजय सोनी ने तत्कालीन अपर कलेक्टर से अपना स्थानांतरण कस्तूरबा छात्रावास बंजी करा लिया था। इसके बाद जब फिर से जिला परियोजना समन्वयक अशोक सिन्हा ने उनका स्थानांतरण बंजी से जनकपुर किया तो लेखापाल सोनी ने कोर्ट से स्टे लेकर अपना स्थान्तरण वापस बंजी करा लिया। अब मामला हाइकोर्ट में होने से इस विषय मे कोई भी कार्रवाई करने से अधिकारी बच रहे है। अधिकारियों का कहना है कि कोर्ट में इस मामले में फैसला आने के बाद ही आगे की कोई कार्रवाई होगी।

Web Title : Kasturba Gandhi Residential School Female Staff blame on Gents staff

जरूर देखिये