बच्चों ने खोल दिया बचत बैंक, 90 बच्चे हैं अकाउंट होल्डर

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 07 Nov 2017 04:15 PM, Updated On 07 Nov 2017 04:15 PM

बिलासपुर। जिस उम्र में बच्चे टॉफी-बिस्किट खरीदने के लिए पैसों की जिद करते हैं। उसी उम्र में हरदीपारा, कोरबी के बच्चों ने पैसों की बचत की जिद ठानी है। न सिर्फ ठानी है, बल्कि उसे पूरा भी कर रहे हैं। 

ये भी पढ़ें- कोरबा ज़िला अस्पताल को मिला ई-हॉस्पिटल का दर्जा

 

आपको लिए चलते हैं कोरबी गांव के प्रायमरी स्कूल में चलने वाले उस एक अनोखे बचत बैंक में, जहां 92 बच्चे एकाउंट होल्डर हैं। इनका बैंक गांव के ग्रामीणों को खेती-बाड़ी, इलाज कराने, शादी कराने तक के लिए लोन देता है।

 

 

 

हाथ में पासबुक और दस, बीस रुपए के नोट पकड़े ये बच्चे पैसे जमा करने के लिए कतार में खड़े हैं। ये इनका अपना बैंक हैं। बच्चों का बचत बैंक जिसमें ये एक रुपए भी जमा कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें- ये भी पढ़ें- क्या है इस स्कूल में, लड़कियां क्यों हो जाती हैं बेहोश ?

 

बिलासपुर-कोरबा रोड पर 60 किलोमीटर दूर हरदीपारा प्राइमरी स्कूल में चलने वाला बच्चों का ये बैंक एक-एक रुपए जोड़कर भी इतना सक्षम हो चुका है कि गांव के कई किसानों, ग्रामीणों को लोन दे देता है। 

ये भी पढ़ें- नंदकुमार साय को किसने दी जान से मारने की धमकी ?

इस समय बैंक की पूंजी 63 हजार रुपए है। बच्चों की बचत बैंक का ये आइडिया 2015 में स्कूल के प्रिंसिपल योगेंद्र गौरहा के दिमाग में स्कूल परिसर की सफाई के दौरान आया। उन्होंने खुद ही एक रजिस्टर बनाकर बच्चों से पैसे जमा करने शुरू किए। 

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश में महिला से अमानवीयता 

बच्चों के माता पिता, ग्रामीण भी उनका साथ देने लगे तो सभी बच्चों के लिए पासबुक बनवा दी गई। अब रोज बच्चे जितने भी पैसे लाते हैं उनके खाते में जमा कर लिए जाते हैं। बच्चों में ज्यादा पैसे जमा करने की होड़ भी है। जरूरत पर बिना ब्याज गांववालों को मदद की जाती है। 

इस बैंक ने गांव की एक छात्रा को नर्सिंग कालेज में एडमिशन के लिए दस हजार रुपए लोन दिया था। एक और छात्रा को 11 वीं में प्रवेश के लिए तो कुछ किसानों को खाद खरीदने के लिए भी पैसे दिए। जरूरत पर पैसे मिलने से ग्रामीण भी खुश हैं। 

बैंक को लेकर लोगों में इतना सम्मान और विश्वास है कि बैंक का एक रुपए भी किसी ने नहीं लिया, सभी लोन समय पर वापस हुए हैं। बच्चों का ये बैंक पूरे इलाके में प्रसिद्ध हो गया है।

 

वेब डेस्क, IBC24 

Web Title : Kids made savings bank

जरूर देखिये