बर्थडे : सादगी और शांत स्वभाव वाले मनमोहन सिंह हैं देश के आर्थिक सुधारों के जनक

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 26 Sep 2017 05:03 PM, Updated On 26 Sep 2017 05:03 PM

एक गैर राजनीतिक शख्स जो एक दशक तक देश का प्रथम सेवक रहा वो शख्सियत कोई और नहीं बल्कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह हैं।  प्रधानमंत्री बनने से पहले डॉ. मनमोहन सिंह की पहचान एक सफल अर्थशास्त्री के रूप में थी उन्हें अगर देश के आर्थिक सुधारों का जनक कहा जाय तो गलत नहीं होगा। 26 सितंबर 1932 को जन्मे मनमोहन सिंह भारत के 14वें प्रधानमंत्री बने। पंडित जवाहर लाल नेहरू के बाद लगातार सबसे अधिक समय तक अगर कोई भारत का प्रधानमंत्री रहा है तो वो हैं डॉ. मनमोहन सिंह। 2004 से 2014 दस सालों तक वे देश के प्रधानमंत्री रहे।

 

शिक्षा

डॉ. सिंह ने वर्ष 1948 में पंजाब विश्वविद्यालय से मेट्रिक की शिक्षा पूरी की। उसके बाद उन्होंने अपनी आगे की शिक्षा ब्रिटेन के कैंब्रिज विश्वविद्यालय से प्राप्त की। 1957 में उन्होंने अर्थशास्त्र में प्रथम श्रेणी से ऑनर्स की डिग्री अर्जित की।

अर्थशास्त्री डॉ. मनमोहन सिंह

एक अर्थशास्त्री के रूप में उन्होंने कई ऐतिहासिक निर्णय लिए 1991 में जब पूरा विश्व आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा था भारत का सारा सोना गिरवी पड़ा था। यह वह दौर था, जब भारत को अपना कर्ज उतारने के लिए आईएमएफ के सामने झुकना पड़ा था। उसी दौरान वित्त मंत्री के रूप में उन्होंने कई बड़े फैसले लिए जिसके कारण भारत उस समय की मंदी से आसानी से निकल सका।

 

Web Title : Manmohan Singh with simplicity and calm nature, The father of the country's economic reforms

जरूर देखिये