प्रदेश के कई शहरों को मिलेगी सैटेलाइट सिटी की सौगात, शुरुआत न्यायधानी से

Reported By: Vijendra Pandey, Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 18 Jun 2019 08:44 PM, Updated On 18 Jun 2019 08:44 PM

जबलपुर। मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार प्रदेश के कई शहरों को सैटेलाइट सिटी की सौगात देने जा रही है। शुरुआत जबलपुर से हुई है जहां आधारताल के पास मौजूद, जवाहरलाल नेहरु कृषि विश्वविद्यालय की अनुपयोगी पड़ी ज़मीन को सैटेलाइट सिटी के लिए चिन्हित किया गया है। योजना विभाग की भी जिम्मेदारी संभाल रहे मध्यप्रदेश के वित्तमंत्री तरुण भनोट ने जबलपुर कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर को आदेश दिया है कि वो जवाहरलाल नेहरु कृषि विश्वविद्यालय प्रबंधन से बातचीत करें और सैटेलाईट सिटी बनाने के लिए जमीनों के हस्तांतरण का प्रस्ताव तैयार करें।

तरुण भनोट का कहना है कि अगर विश्वविद्यालय प्रबंधन से सहमति बन जाती है तो उसे राज्य सरकार बदले में उतनी ही ज़मीन कहीं और देगी और फिर जबलपुर के आधारताल के पास सैटेलाइट सिटी बनाने का सपना साकार हो सकेगा। वित्तमंत्री तरुण भनोत का कहना है कि उन्होने योजना विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि वो प्रदेश के बड़े शहरों के पास सरकारी संस्थानों की अनुपयोगी ज़मीनों का चिन्हांकन करें ताकि ज़मीन हस्तांतरण के बाद, बड़े शहरों में सैटेलाइट सिटी बनाने की शुरुआत की जा सके।

यह भी पढ़ें : अधीर रंजन चौधरी होंगे लोकसभा में कांग्रेस के नेता 

मंत्री तरुण भनोट के मुताबिक ज़मीन चिन्हित होने पर सरकार, कई सरकारी दफ्तरों को भी सैटेलाइट सिटी में शिफ्ट करवाएगी ताकि लोग नए शहर में पहुंचें, वहां इकॉनॉमिकल एक्टिविटी बढ़े और पुराने शहरों पर दबाव कम हो सके। बता दें कि कांग्रेस ने अपने वचनपत्र में भी मध्यप्रदेश में कई सैटेलाइट सिटी बनाने का वादा किया था और अब मौजूदा कवायद को वचनपत्र का वादा निभाने की शुरुआत माना जा रहा है।

Web Title : Many cities in the state will get the benefit of satellite city

जरूर देखिये