सिम्स की लाइब्रेरी अब 24 घंटे खुली रहेगी, स्टूडेंट्स को सहूलियत देने फैसला

Reported By: Manoj Singh, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 04 Feb 2019 04:10 PM, Updated On 04 Feb 2019 04:19 PM

बिलासपुर। मेडिकल कॉलेज के छात्र अपनी पढ़ाई के लिए काफी मेहनत करते हैं, लेकिन ये सभी जानते हैं कि मेडिकल की किताबें काफी मंहगी होती हैं, जिसे खरीद पाना सभी के बस की बात नहीं होती है। इसके लिए छत्तीसगढ़ के छह शासकीय मेडिकल कॉलेजों में लाइब्रेरी की व्यवस्था की गयी है, लेकिन ये लाइब्रेरी रात के 10 बजे के बाद बंद हो जाती हैं और सुबह छात्रों को अपनी क्लास के लिए भागना पड़ता है। ऐसे में वो इसका लाभ नहीं ले पाते हैं। इसे देखते हुए बिलासपुर के सिम्स ने एक ऐसा कदम उठाया है जो प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों के लिए मिसाल बन सकता है।

पढ़ें-IBC-24ममता बनर्जी और सीबीआई में टकराव,पूरे पश्चिम बंगाल में टीएमसी का प्रदर्शन, सीबीआई 

बिलासपुर के छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस यानि की सिम्स ने मेडिकल छात्रों को बड़ी सौगात दी है, जो छत्तीसगढ़ के छः मेडिकल कॉलेजों के लिए भी पहली बार है। सिम्स ने अपने छात्रों की सहूलियत को देखते हुए मेडिकल कॉलेज की लाइब्रेरी को 24 घंटे खोलने के आदेश दिये हैं।

इससे पहले सिम्स की लाइब्रेरी अन्य मेडिकल कॉलेजों की तरह ही रात के 10 बजे बंद हो जाती थी, लेकिन सुबह 8 से शाम के पांच बजे तक क्लास करने और देर शाम तक क्लीनिकल प्रैक्टिस करने की वजह से छात्र लाइब्रेरी का इस्तेमाल नहीं कर पाते थे। मेडिकल कॉलेज की पढ़ाई के लिए महंगी किताबें खरीदना भी सभी के लिए मुश्किल होता है। ऐसी स्थिति में छात्रों की परेशानी को देखते हुए सिम्स की लाइब्रेरी को महानगरों की तर्ज पर 24 घंटे के लिए खोल दिया गया है।

पढ़ें-IBC-24सुप्रीम कोर्ट ने दी कोलकाता पुलिस को चेतावनी, सबूत से 

हालांकि सुरक्षा व्यवस्था और अनुशासन भी इसमें मायने रखता है, यही वजह है कि सिम्स प्रबंधन ने लाइब्रेरी में सीसीटीवी कैमरा और सुरक्षा कर्मचारियों की भी ड्यूटी लगा दी है। मेडिकल कॉलेजों के ज्यादातर छात्र देर रात तक पढ़ाई करते हैं, लेकिन शेयरिंग वाले कमरों या फिर हॉस्टल में ऐसी पढ़ाई संभव नहीं हो पाती है, लिहाजा हमेशा खुली रहने वाली लाइब्रेरी ऐसे छात्रों के लिए किसी बड़ी सौगात से कम नहीं है।

Web Title : Medical College Library Now Open 24 Hours

जरूर देखिये