मोदी 2.0 शपथ से पहले नीतीश सरकार ने करवाई थी RSS सहित इन संगठनों की जासूसी, एसपी के लिखे पत्र से हुआ खुलासा

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 17 Jul 2019 03:44 PM, Updated On 17 Jul 2019 03:44 PM

पटना। बिहार में बीजेपी के साथ सत्ता पर काबिज जेडीयू सरकार ने मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह से पहले RSS और उसके सभी सहयोगी संगठनों के बारे में जानकारी जुटाने के आदेश दिए थे। पुलिस की विशेष शाखा के एसपी का एक पुराना लेटर सुर्खियां बटोर रहा है। 28 मई 2019 को जारी किए गए पत्र में प्रदेश के आरएसएस पदाधिकारियों और 17 सहयोगी संगठनों की विस्तृत जानकारी निकालने के आदेश दिए गए थे।

ये भी पढ़ें- स्वतंत्र देव सिंह होंगे UP भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष, चंद्रकांत दा...

इस लेटर में पुलिस अधीक्षक ने स्थानीय पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वो हिंदू संगठनों के नाम, पता और व्यवसाय की जानकारी इकट्ठा करें और उसे भेजें। जानकारी के मुताबिक लेटर 28 मई, 2019 को लिखा गया, जिसमें आरएसएस, बजरंग दल, हिंदू जागरण समिति, धर्म जागरण समन्वय समिति, शिक्षा भारती, दुर्गा वाहिनी, भारतीय किसान संघ, भारतीय मजदूर संघ, हिंदू राष्ट्र सेना और मुस्लिम राष्ट्र मंच सहित 19 संगठनों के संबंध में जानकारी जुटाने के लिए कहा गया था।

ये भी पढ़ें- विश्वकप सेमीफाइनल ही थी धोनी की अंतिम पारी ! चयनकर्ता नहीं चाहते अब...

खुफिया विभाग के इस पत्र में बिहार पुलिस की स्पेशल ब्रांच के सभी अधिकारियों से आरएसएस, बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद समेत विभिन्न दलों के नेताओं के नाम, पता, पद और व्यवसाय की जानकारी विस्तार से देने को कहा गया था। उनसे एक सप्ताह के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया था। इस पत्र की कापी बिहार पुलिस के स्पेशल ब्रांच के एडीजी, आईजी और डीआईजी को भी भेजी गई थी।

ये भी पढ़ें- धोनी का नहीं सानी, चोटिल अंगूठे के साथ कर रहे थे बैटिंग- कीपरिंग, स...

मामला गरमाने पर जेडीयू ने सफाई पेश की है। जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने इसे रूटीन मामला बताया था। केसी त्यागी के कहा कि यह रुटीन का मामला है, जो कि प्रत्येक राज्य या केंद्र सरकार की खुफिया इकाई समय- समय पर करती रहती है। इसे किसी संगठन की छवि को टारगेट करने या खराब करने की कोशिश के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने इस पर कहा कि यह गंभीर मामला है क्योंकि आरएसएस एक राष्ट्रीय संगठन है।

Web Title : Modi 2.0 before the oath The Nitish government had conducted the espionage of these organizations including RSS Revealed from the letter written by SP

जरूर देखिये