एक्शन और स्पेशल इफेक्ट्स के साथ कॉमेडी का तड़का, मगर इसबार कुछ फीकी रह गई 'मेन इन ब्लैक: इंटरनैशनल'

Reported By: Neelam Ahiwar, Edited By: Arjun Bartwal

Published on 14 Jun 2019 07:02 PM, Updated On 14 Jun 2019 07:02 PM

डायरेक्टर एफ गैरी ग्रे की फिल्म ''मैन इन ब्लैक: इंटरनेशनल'' रिलीज हो चुकी है, मई 1997 में एमआईबी की पहली फिल्म रिलीज हुई थी। जिसमें विल स्मिथ और ली जॉनसन की जोड़ी ने कमाल किया था, तब से एमआईबी सीरीज के दर्शक दीवाने रहे हैं। इन फिल्मों की सीरिज में एक्शन,  सस्पेंस,  थ्रिल और कॉमेडी के साथ एडवेंचर भी रहा है। जिन्हें दर्शकों ने खूब पसंद किया है, दूसरी और तीसरी सीरिज भी कमाल की है। लेकिन लगता है इस बार डायरेक्टर पीछे रह जाएंगे।

''Men In Black: International'' फिल्म में क्रिस हेम्सवर्थ और टेसा थॉम्पसन लीड रोल में हैं, फिल्म की कहानी मौली की है, जो बचपन से एमआईबी टीम का हिस्सा बनना चाहती हैं। उसका सपना 20 सालों बाद पूरा होता है, उसे टीम में एजेंट ‘M’ के नाम से जाना जाता है। यहां एंट्री होती है एजेंट ‘H’ की। टीम का सबसे हैंडसम, स्मार्ट और शातिर एजेंट है। अब इन दोनों को MIB की तरफ से पृथ्वी को बचाने के लिए खास मिशन पर भेजा जाता है। अब वो क्या हैं ये आपको फिल्म देखने के बाद पता चलेगा।

फिल्म की खूबियां- फिल्म की खूबी ये है कि इस बार इसमें वुमन इंपॉवरमेंट को दिखाने की कोशिश की गई है, क्यों हर बार ''मैन इन ब्लैक'' का हिस्सा हो वुमन भी हो सकती है।

वहीं फिल्म में टैक्नोलॉजी से लेस हथियारों और खूबसूरत लोकोशन हैं, जो थ्रीडी में कमाल की लगती हैं। स्पेशल इफेक्ट्स भी ठीक हैं, क्रिस और टेसा की जोड़ी कमाल की लगती है, लेकिन उनके बीच कैमेस्ट्री की कमी दिखती है।

फिल्म की कमियां : जो आपको फिल्म देखते वक्त महसूस हो जाएंगा, फिल्म की कहानी काफी फ्लैट लगती है मतलब फिल्म में क्या होने वाला है आपको पता चल जाएगा, इस बार एलियन्स की नई प्रजातियों और उनके धाड़क अंदाज पर फोकस नहीं किया गया। वहीं, इस बार फिल्म का विलन काफी कमजोर दिखता है, जो ताकतवर होना चाहिए था। वहीं, एक्शन वहीं इस सीरिज की जान रहा है फिल्म का सस्पेंस थ्रिलर एक्शन कॉमेडी और रोमांस एडवेंचर लेकिन इस बार ये कमजोर दिखा है।

वहीं अगर आप ये फिल्म हिंदी में देखने वाले हैं तो हिंदी डबिंग बेहद खराब और बोरिंग है, जो आपका मजा किरकिरा कर देगी।  फिल्म में सिद्धांत चतुर्वेदी की आवाज हीरो क्रिस पर बिल्कुल नहीं जमती। फिल्म को जबरदस्ती मुंबई और बॉलीवुड टच देने की कोशिश बोरिंग बोझिल डायलॉग्स का इस्तेमाल किया गया है। जो आपको बोर करेगा जबकि इसकी जरूरत नहीं थी।

सीधी बात नो बकबास : अगर आपने पहली सीरिज नहीं देखी है तो आपको ये फिल्म अच्छी लगेगी। लेकिन अगर आपने पहली सीरिज की फिल्में देखी हुईं हैं, तो आपको इस बार एमआईबी की इंटरनेशनल बेहद निराश कर सकती है। हालांकि आप इसे एक बार देख सकते हैं इंग्लिश में थ्रीडी में।

रेटिंग :  2.5/5 स्टार.

 

Web Title : Move Review ''Men In Black: International :

जरूर देखिये