गॉडज़िला: द किंग ऑफ मोन्स्टर'- वक्त बर्बाद ना ही करें

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 31 May 2019 08:32 PM, Updated On 31 May 2019 08:32 PM


फिल्म गॉडज़िला द किंग ऑफ मोन्स्टर दर्शकों के बीच छाप छोड़ने में नाकाम साबित हो रही है। फिल्म का डायरेक्शन रोबर्ट डोहर्टी ने किया है। फिल्म में लीड रोल में वेरा और मिली बॉबी ब्राउन, सैली हॉकिंस हैं। फिल्म की कहानी साल 2014 की गॉडजिला का सीक्वल है, जहां मोनार की कंपनी की डॉक्टर एमा एक ऐसा ओरका डिवाइस बनाती हैं। इस डिवाइस से धरती में बचे हुए टाइटन यानि दैत्य को जीवित कर सकती हैं। खोए हुए गॉडज़िला के जरिए वो धरती पर संतुलन बनाए रखना चाहती है, लेकिन विलन एमा को ओरका डिवाइस के साथ उसकी बेटी मेडिसन को किडनैप कर लेतें है। इसके बाद फिर पैदा होता है एक ऐसा खतरनाक मॉन्स्टर टाइटन 'गिडौरा',जो पूरी पृथ्वी लिए खतरा बन जाता है और वो बेकाबू हो जाता है। ऐसे में एमा ओरका डिवाइस के जरिए खोए हुए गॉडजिला को जगाती है और फिर हो जाता इंटरवल है।

Read More: छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के महाधिवक्ता कनक तिवारी ने दिया इस्तीफा

फिल्म के सेंकंड पार्ट में सिर्फ तबाही नजर आती है हैलीकॉप्टर, जहाज, समरीन, बड़ी बड़ी बिल्डिंग और टाइटन से सामना करते हैं। सैनिक एयरक्राफ्ट सब तबाह होता है और क्लाइमैक्स में गॉडजिला और गिडौरा के बीच फाइटिंग होती है। इसे देखना दिलचस्प है।

Read More: रायपुर की 'लेडी डॉन' पूजा सचदेव सहित तीन को उम्र कैद की सजा, जानिए क्या है मामला 

अगर आपने पहले गॉडज़िला देखी है तो आपको ये निराश कर सकती है, लेकिन अगर आप पहली बार देख रहे हैं तो आप इसे झेल लेंगे फिल्म का म्यूजिक काफी लाउड है, जो आपको परेशान कर देगा। वहीं, फिल्म की कहानी घिसी-पिटी लगती है। गॉडज़िला को उतना शानदार तरीके से प्रेजेंट नहीं किया गया, जितना पॉवरफुल नाम रखा गया है। हां विजुअल इफेक्ट्स ठीक ठाक हैं, लेकिन फिल्म के सीन डार्क होने की वजह से वो आपको इंप्रेस नहीं कर पाते। कुलमिलाकर कहा जाए तो फिल्म में वो बात नहीं की आपकी चीख निकल आए। तो इस पर वक्त बर्बाद ना करें लेकिन अगर आप गॉडजि़ला मॉन्स्टर के दीवाने हैं तो ही इसे देखने जाएं।

हमारी तरफ से गॉडज़िला द किंग ऑफ मॉन्स्टर को 2/5 स्टार

Web Title : Movie review of Film godzilla king of the monsters

जरूर देखिये