राइट टू वॉटर के लिए सरकार ने बनाया ‘वॉटर सेल', सचिव स्तर के अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 23 Jun 2019 11:26 PM, Updated On 23 Jun 2019 11:11 PM

भोपाल: मध्यप्रदेश में पानी की किल्लत को देखते हुए कमलनाथ ने सरकार ने जनता के लिए राइट टू वॉटर योजना बनाई है। अब सरकार इस योजना के लिए कार्ययोजना बना रही है। सरकार ने राइट टू वॉटर के लिए सरकार ने ‘वॉटर सेल’ बनाया है, जिसकी जिम्मेदारी सचिव स्तर के अधिकारियों को सौंपी गई है।

Read More: चंद्रनाहू समाज के 50 महाधिवेशन में शामिल हुए सीए भूपेश बघेल, कहा- संसाधानों पर पहला हक किसानों का

इस योजना को लेकर सरकार जनता से पानी सहेजने के उपायों की जानकारी मांगी है। बताया जा रहा है कि सीएम कमलनाथ ने जनता को संदेश देते हुए कहा कि युवा शक्ति समितियों को गठित कर सरकार बड़ा जन आदोलन चलाएगी। इस योजना को कारगर बनाने के लिए सरकार जल दूत भी बनाएगी। बारिश के पानी को सहेजने के लिए सरकार ने पानी रोको अभियान चलाने का फैसला लिया है। वहीं, सरकार ने जनप्रतिनिधियों से भी पानी के लिए अपनी निधि खर्च करने की अपील है।

Read More: कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर विधायक अमरजीत सिंह भगत का बड़ा बयान, कही ये बात

गौरतलब है कि गर्मी के मौसम के दौरान प्रदेश में भीषण जल संकट को देखते हुए राइट टू वाटर की योजना बनाई थी। सरकार ने दावा करते हुए कहा था कि इस योजना के तहत प्रदेश के सभी लोगों को पानी का अधिकार होगा। किसी को भी पानी के लिए जूझना नहीं पड़ेगा।

Web Title : MP Government build water cell for right to water scheme

जरूर देखिये