नान घोटाला, कांकेर के तत्कालीन मैनेजर चंद्राकर से 3 घंटे पूछताछ, जमा किए दस्तावेजी प्रमाण

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 17 Apr 2019 08:14 PM, Updated On 17 Apr 2019 08:00 PM

रायपुर। बहुचर्चित नान घोटाला मामला में ईडब्ल्यू की एसआईटी ने बुधवार को कांकेर के तात्कालिक नान मैनेजर चिंतामणि चंद्राकर से पूछताछ की है। यह पूछताछ करीब 3 घंटे चली। चंद्राकर को EOW आफिस में बुलाकर पूछताछ की गई। इस दौरान चिंतामणि ने कई दस्तावेजी प्रमाण भी जमा किए हैं।

वहीं एसआईटी ने मामले में करीब एक दर्जन लोगो से भी पूछताछ की है। सुप्रीम कोर्ट के नान मामले में मई तक चालान पेश करने की डेडलाइन के बाद जांच में तेजी आई है। बता दें कि इससे पहले इस माह की शुरुआत में ईओडब्ल्यू की एसआईटी टीम ने नया रायपुर स्थित नागरिक आपूर्ति निगम के ऑफिस में दबिश दी थी। एसआईटी ने नान के दफ्तर से साल 2011-13 की फाइलें बड़ी संख्या में जब्त की।साथ ही, चावल और नमक के परिवहन से जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए।

यह भी पढ़ें : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा- ईवीएम से करेंट लगने वाली बात भ्रामक, मशीन में बिजली कनेक्शन ही नहीं 

बताया जा रहा है कि एसआईटी टीम नान घोटाले की जांच में छूटे वर्ष 2011 से 2013 के दस्तावेज जब्त करने ही नान के दफ्तर गई थी। वर्ष 2013-14 की फाइलें एसआईटी को पहले ही हासिल हो चुकी थी, लेकिन वर्ष 2011-13 की फाइलें उसके पास नहीं थी। इसलिए ही एसआईटी टीम ये फाइलें बरामद करने के लिए नान के दफ्तर पहुंची थी।

Web Title : Naan scam eow questioned for 3 hours to Kanker former non-manager Chandrakar

जरूर देखिये