केंद्रीय मंत्री के बेटे और भतीजे मामले में नया यू-टर्न, बीजेपी के पदाधिकारियों ने एसपी ने नाम ज्ञापन सौंपकर की जांच की मांग

Reported By: Pankaj Gupta, Edited By: Vivek Mishra

Published on 19 Jun 2019 08:31 AM, Updated On 19 Jun 2019 08:31 AM

नरसिंहपुर। नरसिंहपुर के गोटेगांव में बीती रात हुए खूनी खेल में एक पक्ष पर मामला दर्ज होने पर जिले की सियासत गर्मा गई है, और पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर में केन्दीय मंत्री प्रह्लाद पटेल, नरसिंहपुर विधायक जालमसिंह पटेल के बेटों के नाम आने के बाद बीजेपी संगठन के पदाधिकारी खुलकर पुलिस की कार्रवाई का विरोध करने लगे हैं, और पुलिस कप्तान के नाम ज्ञापन सौंपकर उच्चस्तरीय जांच की मांग करने लगे हैं।

ये भी पढ़ें: राजधानी में योग दिवस को लेकर तैयारियां शुरू, वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की एक नई कोशिश

ज्ञापन देने आए लोगों में पूर्व विधायक हाकमसिंह ,जनपद नगरपालिका अध्यक्ष, बीजेपी मंडल अध्यक्ष सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहें। बीजेपी के जिला महामंत्री और नगर पालिका अध्यक्ष ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि घटना के वक्त मोनू पटेल जिले से बाहर थे, इसी तरह राजू राजपूत सहित कई अन्य लोगों को मामले में फंसाया गया है। यदि पुलिस सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल लोकेशन की जांच करे, तो सारा मामला पानी की तरह साफ हो जाएगा।

ये भी पढ़ें: कमलनाथ कैबिनेट की अहम बैठक आज, इन मुद्दों पर लग सकती है मुहर

वहीं पुलिस अब प्राप्त आवेदन को संज्ञान में लेने की बात कह रही है और खुद पर लग रहे आरोपों को बेबुनियाद बता रही है। बता दे कि इस पूरी वारदात के बाद गोटेगांव में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है और अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर रखा है ताकि किसी अप्रिय घटना से तुरन्त निपटा जा सके।

Web Title : New U-turn, BJP's officials in the case of Union Minister's son and nephew, submitted the name of the SP to the demand of inquiry

जरूर देखिये