एनआईए संशोधन विधेयक 2019 लोकसभा में पास, एनआईए जांच का बढ़ेगा दायरा और मिलेंगी ये शक्तियां

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 16 Jul 2019 11:27 AM, Updated On 16 Jul 2019 11:27 AM

नई दिल्ली। सोमवार को लोकसभा में ‘एनआईए संशोधन विधेयक 2019’ पास हो गया। इस बिल के कानून बन जाने के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी को भारत से बाहर किसी गंभीर अपराध के संबंध में मामले का पंजीकरण करने और जांच का निर्देश देने का अ​धिकार मिल जाएगा।

read more : लग्जरी कार सवार चोरों ने उड़ाई पॉश कॉलोनी के बाशिंदों की नींद, सीसीटीवी फुटेज में चोरी की वारदात कैद.. देखिए

एनआईए बिल पर चर्चा के दौरान गृह मंत्री अमित शाह और एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी के बीच नोकझोंक भी हुई। विपक्ष की शंका का जवाब देते हुए शाह ने कहा कि इस कानून का इस्तेमाल आतंकवाद को खत्म करने के लिए किया जाएगा, यह भी नहीं देखा जाएगा कि यह किस धर्म के व्यक्ति ने किया है।

read more : बच्चों से भरी स्कूल वेन गढ्ढे में ​गिरी, नशे की हालत में था ड्राइवर

गृह मंत्री अमित शाह ने भी कहा कि इस पर मत-विभाजन जरूर होना चाहिए। इसकी हम भी मांग करते हैं ताकि पता चल जाए कि कौन आतंकवाद के साथ है और कौन नहीं। मत विभाजन में सदन ने 6 के मुकाबले 278 मतों से विधेयक को पारित कर दिया।

read more : कर्नाटक में बागी ​विधायकों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, 16 विधायकों के इस्तीफे पर आएगा फैसला

विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि आज जब देश और दुनिया को आतंकवाद के खतरे से निपटना है, ऐसे में एनआईए संशोधन विधेयक का उद्देश्य जांच एजेंसी को राष्ट्रहित में मजबूत बनाना है। रेड्डी ने कहा, ‘आतंकवाद का कोई धर्म, जाति और क्षेत्र नहीं होता। यह मानवता के खिलाफ है। इसके खिलाफ लड़ने की सरकार, संसद, सभी राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी है।’

read more : शिक्षा और पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रशासन की अनोखी पहल, कलेक्टर सहित अफसर बनेगें टीचर, एसडीएम लगाएगें पौधे

वहीं रेड्डी ने कुछ सदस्यों द्वारा चर्चा के दौरान दक्षिणपंथी आतंक और धर्म का मुद्दा उठाए जाने के संदर्भ में कहा कि सरकार हिंदू, मुस्लिम की बात नहीं करती है। सरकार को देश की 130 करोड़ जनता ने अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी दी है, जिसे चौकीदार के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार किया है। देश की सुरक्षा के लिए सरकार आगे रहेगी।

 

Web Title : NIA Amendment Bill 2019 Passed in the Lok Sabha

जरूर देखिये