सम्मानित ना किए जाने से ख़फा मीसाबंदी नहीं पहुंचे गणतंत्र दिवस के शासकीय कार्यक्रम में

Reported By: Vijendra Pandey, Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 26 Jan 2019 01:23 PM, Updated On 26 Jan 2019 01:23 PM

जबलपुर। गणतंत्र दिवस के मौके पर सम्मानित ना किए जाने से ख़फा अधिकांश मीसाबंदी आज जबलपुर में गणतंत्र दिवस के मुख्य शासकीय कार्यक्रम में नहीं पहुंचे। मीसाबंदियों के लोकतंत्र सेनानी संघ ने आरोप लगाया है कि उनके कई सदस्यों को सरकारी निमंत्रण ही नहीं भेजे गए। इसके चलते उन्होंने शासकीय कार्यक्रम में जाने की बजाय, अलग से गणतंत्र दिवस मना लिया।

लोकतंत्र सेनानी संघ का कहना है कि राष्ट्रीय पर्व होने के कारण उसने गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के बहिष्कार का ऐलान नहीं किया लेकिन सम्मान ना मिलने से आहत अधिकांश मीसाबंदी कार्यक्रम में नहीं गए। संघ के अध्यक्ष खुद अशोक सिंघई भी कार्यक्रम में नहीं पहुंचे। उन्होंने आने वाले समय में सरकार के रवैये के खिलाफ सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करने की बात की है। इधर जबलपुर में गणतंत्र दिवस के मुख्य शासकीय कार्यक्रम में मंत्री लखन घनघोरिया ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और उनके परिवारों को शॉल-श्रीफल देकर सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें : गणतंत्र दिवस पर सीएम भूपेश का संबोधन, कहा- छत्तीसगढ़ को यशस्वी राज्य बनाने में होंगे सफल 

सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने दावा किया कि कार्यक्रम में कुछ मीसाबंदी भी पहुंचे थे जिन्हें सम्मानित किया गया है। लखन घनघोरिया ने कहा कि कांग्रेस सरकार, केन्द्र की बीजेपी सरकार की तरह नहीं है जिसने आज दिल्ली में गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में कांग्रेस शासित मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की झांकियां शामिल होने नहीं दीं।

Web Title : Not being honored Misabandi did not attend Republic Day's official program;

जरूर देखिये