ग्लेंडर वायरस से इन्फेक्टेड घोड़ी के लिए शासन से नोटिफिकेशन जारी, शुक्रवार को पशु चिकित्सक लगाएंगे यूथेनेशिया

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 20 Jun 2019 09:39 PM, Updated On 20 Jun 2019 09:39 PM

दुर्ग। ग्लेंडर वायरस से इन्फेक्टेड घोड़ी के लिए शासन से नोटिफिकेशन जारी हो गया है। शुक्रवार को पीड़ित घोड़ी को पशु चिकित्सकों की टीम यूथेनेशिया लगाएगी। इसके लिए कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया है।

यह भी पढ़ें : राज्य प्रशासनिक सेवा के 12 अधिकारियों का ट्रांसफर, जानिए कौन कहां पदस्थ किए गए 

बताया गया कि सुरक्षा के संपूर्ण उपायों के बाद पूरी कार्रवाई की जाएगी। बीमारी से पीड़ित एक घोड़ी की पूर्व में मौत हो चुकी है। इसे देखते हुए वेटनरी विभाग ने इन्फेक्टेड घोड़ी को मारने शासन से अनुमति मांगी थी। बता दें कि घोड़ों में होने वाले ग्लेंडर बीमारी लाइलाज है।

यह भी पढ़ें : भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष ने की आत्महत्या 

भारत में वर्ष 1913 में इस बीमारी का पहला केस सामने आया था। हरियाणा के हिसार स्थित नेशनल रिसर्च सेन्टर ऑफ इक्वाइन में ग्लेण्डर पर रिसर्च चल रही है। इस बीमारी की पहचान के लक्षण घोड़े के नाक से गाढ़े व पीले पदार्थ का रिसाव, शरीर में जगह-जगह गांठें व मवाद बाहर आना, घोड़े का थक जाना और पसलियां दिखाई देना है।

Web Title : Notification issued from the govt for glender virus Infected Mare

जरूर देखिये