पुलवामा हमले के एक महीने, क्या खोया और पाया.. जानिए इस रिपोर्ट में

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 14 Mar 2019 10:56 AM, Updated On 14 Mar 2019 10:56 AM

नई दिल्ली। पुलवामा आतंकी हमले को आज 1 महीने पूरे हो गए हैं। इस हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। आतंकी संगठन जैश ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस हमले के बाद पूरे देश के लोगों में गुस्सा दिखा। केंद्र सरकार ने भी सेना और सुरक्षाबलों को आतंकवाद से निपटने की खुली छूट दी। वायुसेना ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक की और आतंकियों के ठिकाने तबाह किए। वहीं कश्मीर में 21 आतंकियों को मार गिराया गया। इनमें पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड भी थे।

पढ़ें-पोलियो फैलने का खतरा!, 'करीब 15 लाख बच्चों को प्रतिबंधित हो चुकी पोलियो की दव...

इस एक महीने में न सिर्फ पाकिस्तान में घुसकर आतंकवाद को आघात पहुंचाया गया बल्कि बॉर्डर पर भी मुंहतोड़ जवाब दिया गया। युद्ध से बचने का मौका तलाश रहे पाक ने उसके एफ-16 विमान मार गिराने वाले वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को बिना समय गंवाए लौटा दिया। भारत ने आतंकवाद के मुद्दे पर वैश्विक मंच पर पाकिस्तान की जबरदस्त घेराबंदी भी की। पाकिस्तान के खिलाफ यूएनओ में निंदा प्रस्ताव पारित हुआ, जिसका चीन ने भी समर्थन किया।

पढ़ें-कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के बीच गठबंधन, जानिए दोनों कितनी सीट...

हालांकि पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा और सीज़फायर का लगातार उल्लंघन कर रहा है। इस बीच भारत ने जम्मू-कश्मीर से पीओके के बीच सीमापार व्यापार पर प्रतिबंध लगाया। वहीं सुरक्षा परिषद में जैश सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करवाने के लिए भी भारत ने सबूत पेश किए। हालांकि चीन के अड़ंगे से मसूद अजहर ग्लोबल टेररिस्ट घोषित नहीं हो सका।

पढ़ें-कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए जारी की दूसरी सूची, 21 उम्मीदवारो...

लेकिन ये पूरा एक महीना पाकिस्तान, आतंकियों और अलगाववादियों पर भारी पड़ा। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज एक बार फिर आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को घेरा है। सुषमा स्वराज ने कहा है, कि हम आतंकवाद पर बातचीत नहीं बल्कि कार्रवाई चाहते हैं। सुषमा स्वराज ने ये भी कहा, कि पाकिस्तान। आतंकी संगठन जैश पर कार्रवाई करे और आतंकी मसूद अजहर को भारत को सौंपे। सुषमा स्वराज ने ये आरोप भी लगाया, कि पाकिस्तान पूरी दुनिया को गुमराह कर रहा है।

Web Title : One month of the Pulwama attack

जरूर देखिये