प्राइवेट MBBS कॉलेजों की एक साल की फीस 2 लाख तक बढ़ी, कहां कितनी हुई फीस.. देखिए

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 23 Jun 2019 04:19 PM, Updated On 23 Jun 2019 04:19 PM

रायपुर। छत्तीसगढ़ के निजी मेडिकल कॉलेजों में MBBS की फीस 15 से 20 फीसदी तक बढ़ा दी गई है। इसमें हॉस्टल फीस शामिल नहीं है। वहीं सरकारी मेडिकल कॉलेजों की फीस में किसी तरह की कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। हालांकि निजी मेडिकल कॉलेजों ने इस फीस को बढ़ाकर 12 लाख करने का प्रस्ताव दिया था। ऐसे में उनकी मांग को खारिज करते हुए फीस में ये बढ़ोतरी की गई है।

पढ़ें- आरंग के रींवा गांव में अतीत के अवशेष, 10 हजार साल पुराने सोने-चांदी और तांबे के सिक्के मिले.. देखिए

प्रबंधन की माने तो खर्च बढ़ने के कारण वर्तमान फीस में कॉलेज के संचालन में मुश्किल आ रही थी। इसलिए फीस बढ़ाने की मांग की गई थी। आयोग ने अन्य राज्यों से फीस का अध्ययन कर 15 से 20 प्रतिशत बढ़ोतरी पर हामी भरी थी। बढ़ोतरी के बाद निजी कॉलेजों की फीस करीब 2 लाख तक बढ़ गई है। फीस नियामक आयोग ने रिम्स रायपुर, शंकराचार्य भिलाई और चंदूलाल दुर्ग निजी मेडिकल कॉलेज की फीस बढ़ाने की मंजूरी दी है। अभी रिम्स की फीस 7,65,750 सालाना है, जो बढ़कर करीब 9 लाख हो गई है।

पढ़ें-खरोरा से 4 किमी पहले अनियंत्रित बस पलटी, 10 यात्री घायल, दो बच्चे औ...

शंकराचार्य कॉलेज में सबसे ज्यादा फीस की बढ़ोतरी की गई है। यहां फीस बढ़कर 9 लाख 67 हजार तक पहुंच गई है। यानी एक साल की फीस करीब 1 लाख 90 हजार तक बढ़ गई है। वहीं चंदूलाल मेडिकल कॉलेज की फीस 7 लाख 77 हजार से 9 लाख 19 हजार कर दी गई है। फीस बढ़ोतर तीन साल के लिए की गई है। सुविधाओं के हिसाब से फिर फीस बढ़ाई जाएगी।

पढ़ें- सीएम बघेल के कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगी बल्दी बाई, बुजुर्ग के घर...

स्कूल प्रबंधन के खिलाफ अभिभावकों ने खोला मोर्चा

 

Web Title : One year fees of private MBBS colleges increased by two lakh

जरूर देखिये