क्षिप्रा नदी के सूखने और श्रद्धालुओं की परेशानी पर कमलनाथ ने अपनाया सख्त रुख, मांगी जांच रिपोर्ट

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 06 Jan 2019 04:18 PM, Updated On 06 Jan 2019 04:18 PM

भोपाल। उज्जैन की शनिश्चरी अमावस्या के मौके पर क्षिप्रा नदी के सूखने और इससे श्रद्धालुओं को स्नान में आई परेशानी मामले में मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ ने सख्त रुख अपनाया है। उन्होंने मुख्य सचिव को पूरे मामले में जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है।

कमलनाथ ने कहा कि जानकारी होने के बाद भी श्रद्धालुओं के स्नान की माक़ूल व्यवस्था क्यों नहीं की गई। नर्मदा का पानी क्षिप्रा नदी में क्यों आ नहीं पाया। इसके पीछे क्या कारण है, किसकी लापरवाही है। सारे इंतजाम पूर्व से ही सारे इंतज़ाम क्यों नहीं किए गए। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच होगी।

यह भी पढ़ें : जीएसटी को लेकर समीक्षा बैठक, सिंहदेव ने कहा-जीएसटी से छत्तीसगढ़ को हुआ नुकसान 

मुख्यमंत्री ने कहा कि लापरवाही सामने आने पर दोषियों पर कार्रवाई हो। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार में धार्मिक आस्थाओं के साथ खिलवाड़ का कोई भी छोटा सा मामला भी मैं बर्दाश्त नहीं करूँगा। ये सुनिश्चित किया जाए कि मकर सक्रांति और फिर भविष्य में इस तरह की परिस्थिति दोबारा निर्मित ना हो।

Web Title : problem of drying Kshipra river and trouble to devotees kamalnath sought inquiry report

जरूर देखिये