निजीकरण के खिलाफ रेल कर्मचारियों की स्ट्राइक, 12 जुलाई तक जारी रहेगी हड़ताल- विरोध प्रदर्शन

Reported By: Nasir Belim, Edited By: Rupesh Sahu

Published on 10 Jul 2019 03:47 PM, Updated On 10 Jul 2019 03:47 PM

उज्जैन। पश्चिम रेलवे के कर्मचारी बुधवार 10 जुलाई से केंद्र सरकार की नीति के खिलाफ हड़ताल पर चले गए हैं। रेलवे के निजीकरण की आशंका को लेकर कर्मचारियों की नाराजगी है जो देश भर के रेलवे स्टेशन पर कर्मचारियों की हड़ताल के रूप में देखने को मिल रही है । रेलवे के कर्मचारी 10 से 12 जुलाई तक हड़ताल पर रहेंगे।

ये भी पढ़ें- एक दिन में 86 वाहन चालकों को नशे की हालत में पुलिस ने पकड़ा, लाइसें...

केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा रेलवे के निजीकरण किये जाने के मामले को लेकर रेल विभाग के कर्मचारियों ने देश भर में एक साथ हड़ताल शुरु कर दी है। रेलवे कर्मचारियों की माने तो केंद्र सरकार अब रेलवे को भी निजी हाथों में सौंपने की तैयारी कर रही है ।

ये भी पढ़ें- 31 स्टाफ नर्सों की भर्ती रद्द, बिना आवेदन के बैक डोर से चयन करने का...

जिसको लेकर अभी से कर्मचारियों ने विरोध करना शुरू कर दिया है। 10 जुलाई से रेलवे विभाग के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। रेल कर्मचारियों ने मोदी सरकार से रेलवे को निजी हाथों में ना सौंपने की मांग है। उज्जैन में भी रेल कर्मचारियों की हड़ताल और विरोध प्रदर्शन देखने को मिला है।

Web Title : Rail workers strike against privatization Protest will continue till July 12

जरूर देखिये