रायपुर पुलिस ने तैयार की 116 नयी गुंडा लिस्ट

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 11 Nov 2017 02:23 PM, Updated On 11 Nov 2017 02:23 PM

इन दिनों राजधानी की पुलिस व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए एक  प्रयोग चल रहा है.जिसे अगर पॉजिटिव  वे में लें तो इसके बेहतर परिणाम हमें देखने मिलेंगे। अब  रायपुर पुलिस ने थानों के मुंशी और मददगारों  की सीधी मीटिंग शुरू की है। नतीजा यह है कि तीस थाना क्षेत्र से 116 नये निगरानीशुदा बदमाशों की सुची तैयार हो गई। इसके अलावा क़रीब 600 पन्नों में यह जानकारी पहुँची है कि थाना परिसरों में मौजूद सामानों का स्टेटस क्या है।की स्थिति क्या है।
क़रीब 500 मोटरसाइकिलों का ब्यौरा 600 पन्नों की सूची में दर्ज है। पुलिस अब इस सूची का मिलान दिगर थानों में चोरी के मामलों से कर रही है, चोरी के मामलों की सुची भी इन्हीं मुंशी और मददगारो के ज़रिए बनी है.  इसके बाद जिन वाहनों को लेकर कोई जानकारी नहीं मिलेगी, पुलिस आर टी ओ के ज़रिए उनके मालिकों तक पहुँचेगी और अंतिम विकल्प के रुप में फिर उन सबका ऑक्शन किया जाऐगा।पर पुलिस अधिकारी जिस बात पर खुश है वो है.116 नयी गुंडा  लिस्ट। दरअसल कई कारणों से पुलिस लगातार क़ानून व्यवस्था के लिए मुसीबत बने तत्वों की पहचान कर उन्हें अधिकतम सूचीबद्ध. नहीं कर पाती, पर इस बार रायपुर पुलिस ने इन मुंशी और मददगारों के ज़रिए वह भी कर लिया है
क्या कहते हैं एक्सपर्ट....
    राजधानी क्षेत्र है, बेहतर पुलिसिंग के लिए रिकॉर्ड अप टू डेट होना जरुरी है. इसके कप्तान संजीव शुक्ला का निर्देश था थाने के मुंशी और मददगार सबसे अहम किरदार होते हैं.अपराध का ब्यौरा हो या फिर अपराधियों का रिकॉर्ड इसे मुंशी और मददगार ही तैयार करते है, तो यह तय किया गया की उनके साथ सीधी बैठक ली जाए और हमें बेहतर नतीजे पहले चरण से ही मिलने लगे.
                                                                                                                                                                        विजय अग्रवाल
                                                                                                                                                                    (अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक)

Web Title : Raipur police created 116 new gunda list

जरूर देखिये