डीएफओ मनीष कश्यप को हटाने 400 वन कर्मियों ने निकाली रैली, अक्सर विवादो में रहे हैं अफसर.. देखिए

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 11 Jul 2019 06:08 PM, Updated On 11 Jul 2019 06:08 PM

कोरिया। डीएफओ मनीष कश्यप पर हिटलरशाही का आरोप लगाते हुए वन विभाग के कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया है। डीएफओ के खिलाफ करीब 400 कर्मचारियों ने प्रेमाबाग से कलेक्ट्रेट तक रैली निकालकर प्रदर्शन किया। वन कर्मियों ने मांग की है कि डीएफओ को अगर नहीं हटाया गया तो वे आगे उग्र आंदोलन करेंगे। बता दें डीएफओ को हटाने की मांग को लेकर कर्मचारी अनिश्चतकालीन हड़ताल पर हैं।

पढ़ें- ऐसा है इस सरकारी अस्पताल का हाल, डॉक्टर छाता लेकर कर रहे मरीजों का इलाज

बता दें कोरिया जिले के बैकुंठपुर वन मंडल में जब से युवा आईएफएस मनीष कश्यप ने डीएफओ के रूप में पदभार तब से वो अपनी कार्यशैली को लेकर विवादों में रहे हैं। पत्रकारों को अनपढ़ और अपने ड्राइवर से गाली गलौच करने के मामले में वो पहले से ही सुर्खियों में रहे है। सोनहत रेंज के वाहन चालक को बिना वजह हटाना शामिल है।

पढ़ें- रायपुर रेडियो स्टेशन में पाकिस्तानी सिंगर्स बैन, फरमाइश पर नहीं सुन...

बता दें डीएफओ कुछ पत्रकारों को डीएफओ ने अनपढ़ व असभ्य के साथ पैसा वसूली के उद्देश्य से समाचार छापने का आरोप भी लगाया था। इतना ही नही वाहन चालकों को हटाने के खिलाफ जब जून माह में छग वन कर्मचारी संघ कोरिया ने एक बैठक आयोजित तो डीएफओ ने संघ के जिलाध्यक्ष पवन रूपौलिहा को ही सस्पेंड कर दिया था।

पढ़ें- रायपुर मेडिकल कॉलेज में आधुनिक मशीन से होगा HIV मरीजों का इलाज, वाय...

डीएफओ की सद्बुद्धी के लिए कर्मियों ने हाल में हवन भी किया था। वन कर्मियों ने भगवना से डीएफओ के लिए सद्बुद्धी की मांग की थी। प्रभारी मंत्री शिव कुमार डहरिया को वन कर्मियों ने इस संबंध में ज्ञापन भी दिया था जिस पर प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर को मामला हैंडल करने का निर्देश दिया गया था।

पढ़ेें- बच्चे का जन्म होते ही जाति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश, पिता क...

मासूम से रेप और हत्या के आरोपी को फांसी

Web Title : rally Done by forest personnel for removed Manish Kashyap

जरूर देखिये