यादवों के शौर्य और परिश्रम का प्रतीक राउत नाचा महोत्सव का आगाज़, 100 से अधिक टीमों का प्रदर्शन

 Edited By: Renu Nandi

Published on 02 Dec 2018 11:11 AM, Updated On 02 Dec 2018 04:26 PM

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ का ऐतिहासिक राउत नाच महोत्सव पूरी भव्यता के साथ शनिवार को आरम्भ हो गया है । ज्ञात हो कि इस महोत्सव में पूरे प्रदेश से आये सौ से अधिक यादवों की टोली अपने नृत्य कौशल और शस्त्र चालन की प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे।

ये भी पढ़े -सहकारी बैंक का खाता हैक कर ठगी करने के आरोप में एक और गिरफ्तार, अब तक 8 आरोपी गिरफ्त में


पहले दिन भी विभिन्न टोलियों ने आकर्षक प्रदर्शन कर सबका मन मोह लिया। बता दें कि बिलासपुर ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ की गौरवशाली परम्परा में शामिल राउत नाच महोत्सव बिलासपुर के लाल बहादुर शास्त्री स्कूल मैदान में वर्ष 1978 से लगातार होते आ रहा है। हर वर्ष यह महोत्सव एकादशी पर्व के बाद पड़ने वाले पहले शनिवार को आयोजित होता है। यह महोत्सव में छत्तीसगढ़ में निवास करने वाले यादवों के शौर्य और परिश्रम का प्रतीक है जिसकी पूरे देश में ख्याति मिली हुई है। महोत्सव के दौरान प्रतिभागियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर शील्ड और नगद पुरस्कार दिए जाते हैं। जानकारों की मानें तो पहले बिलासपुर में यह महोत्सव असंगठित रूप में संचालित होता था और यादवों क शौर्य प्रदर्शन के दौरान कई बार उनके बीच लड़ाई झगड़े की स्थिति भी बन जाती थी। लेकिन बीते 41 साल से तकरीबन जब यह महोत्सव एक ही जगह पर संगठित रूप से सम्पन्न होता है तो इसकी भव्यता देखते ही बनती है और कहीं ना कहीं प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर का भी विकास और प्रसार होता है।

Web Title : Raut Nacha Mahotsav 2018:

जरूर देखिये