छत्तीसगढ़ राज्योत्सव में खेत-खलिहान का अहसास, गुजराती कला-संस्कृति भी बड़ा आकर्षण

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 03 Nov 2017 12:55 PM, Updated On 03 Nov 2017 12:55 PM

नया रायपुर। 5 दिवसीय “छत्तीसगढ़ राज्योत्सव 2017” में जहां विकास प्रदर्शनी में कृषि विभाग का मंडप लोगों में सबसे अधिक आकर्षण के केन्द्र बना हुआ है, वहीं  गुजराती मंडप वहां की समृद्ध लोक कला-लोक संस्कृति और वेश-भूषा से आम लोगों का मन मोहित कर रहा है। इस बार राज्योत्सव में एक भारत-श्रेष्ठ भारत योजना के तहत गुजरात का मंडप लगा है।

छत्तीसगढ़ राज्योत्सव- आकर्षण बनेगा छत्तीसगढ़ की विकास गाथा लाइट एंड साउंड शो

गुजरात टूरिज्म बोर्ड के इस मंडप को पारम्परिक गुजराती थीम पर आकर्षक ढंग से सजाया गया है। गुजरात के मंडप के प्रवेश द्वार पर शहनाई-ढोल, सिद्धी धमाल और कच्छी घोड़ी के नृत्य से आंगतुकों का स्वागत हो रहा है। मंडप के अंदर डांडिया रास, गरबा, गुड़ो एवं छड़ो नृत्य के कलाकारों की मनमोहन प्रस्तुति देखने को मिलती है।

गधों के मेले में जीएसटी की फजीहत

इन सबके बीच जो लोग कृषि विभाग के मंडप में घुस रहे हैं उन्हें खेत-खलिहानों और बाग-बगीचों के बीच का रहने का अहसास मिल रहा है। रंग-बिरंगे फल-फूल और खेती-किसानी की हरियाली सबको भाती है। मंडप में फल-फूलों, सब्जियों सहित अन्य फसलों की खेती, पशुधन, मछलीपालन की जीवंत प्रदर्शनी लोगों को स्वभाविक रूप से आकर्षित करती दिख रही है। प्रदर्शनी में आने वाले लोगों में खासकर किसानों को आकर्षित करने के साथ-साथ उन्हें उन्नत खेती के लिए प्रेरित करने का कार्य कर रही है।

अर्जुन, IBC24

Web Title : Realization of farmland in Chhattisgarh rajyautsav, Gujarati art culture is also a big attraction

जरूर देखिये