आरएसएस ने कहा- जो एयर स्ट्राइक का सबूत मांग रहे उनकी देशभक्ति पर संदेह, बैठक में पारित हुआ यह प्रस्ताव

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 09 Mar 2019 04:03 PM, Updated On 09 Mar 2019 04:03 PM

ग्वालियर। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा के दूसरे दिन शनिवार को भारतीय परिवार व्यवस्था पर एक प्रस्ताव पारित हुआ। इसमें कहा गया कि परिवार विघटन से जघन्य अपराध बढ़ रहे है। ये सब संस्कारों की कमी के कारण हो रहा है। यह जानकारी संघ के सह-सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

उन्होंने कहा कि ऐसे हालात को देखते हुए कुटुम्ब प्रबोधन कार्यक्रम चला रहा है, जिससे परिवारों का विघटन रुक सके। उन्होंने कहा कि देश की जनसंख्या निर्धारित होनी चाहिए, इस पर एक पॉलिसी एक एजेंडे के रूप में भी होना चाहिए। उन्होंने एयर स्ट्राइक में एयरफोर्स की सराहना की और कहा कि लोगों को पता है एयर स्ट्राइक हुई है। जो लोग सबूत मांग रहे हैं, उनकी देशभक्ति पर संदेह है। अब स्ट्राइक हो तो उन्हें साथ लेकर जाएं।

यह भी पढ़ें :राज्य पु्लिस सेवा के 3 अधिकारियों के तबादले, सरकार ने जारी किए आदेश 

बता दें कि प्रतिनिधि सभा की इस बैठक में शामिल होने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी आज ग्वालियर पहुंचे हैं। तीन दिवसीय इस सभा में बैठक में सबरीमाला मंदिर को लेकर भी प्रस्ताव रखा जाना है। इसके अलावा कई अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर प्रतिवेदन भी रखे जाएंगे। बैठक में 1400 से अधिक प्रतिनिधि पहुंचे हैं।

Web Title : RSS said Those who are seeking the evidence of the air strikes suspect their patriotism

जरूर देखिये