शहीद सैनिकों के शव को बोरियों में रखने पर लोगों में आक्रोश, सेना ने बताई ये वजह

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 09 Oct 2017 12:58 PM, Updated On 09 Oct 2017 12:58 PM

अरूणाचल के तवांग में शुक्रवार को दुर्घटनाग्रस्त हुए सेना के एमआई-17वी5 हेलिकाॅप्टर में दो पायलेट समेत सात सैनिक शहीद हो गए थे। दुर्घटना में शहीद हुए जवानों के पार्थिव शरीर को बोरियों और गत्तों के बाॅक्स में लेकर जाने की तस्वीरें सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर इसकी जमकर निंदा हो रही है।

वायुसेना का चौपर M17 V5 दुर्घटनाग्रस्त, 7 की मौत

जिसके बाद सेना ने बयान जारी कर कहा कि ऊंचाई वाले स्थानों पर लाने और लेकर आने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, क्योंकि हेलीकाॅप्टर पूरा लोड नहीं ले पाते। इसलिए सैनिकों के शवों को बाॅडी बैग या ताबूतों की जगह उपलब्ध संसांधनों में लपेटा गया था।

वायुसेना आपात स्थिति में पूरी क्षमता के साथ युद्ध करने में सक्षम'

जिसके बाद गुवाहाटी बेस हाॅस्पिटल में पोस्टमार्टम के तुरंत बाद उनके शवों को पूरे सैनिक सम्मान के साथ लकड़ी के ताबूतों में रखकर संबंधित परिजनों को भेजा गया। सेना के अधिकारियों के अनुसार सोशल मीडिया पर जो तस्वीरें वायरल हो रही है वे उस समय की जब शवों को तवांग से गुवाहाटी लाया गया था। 

Web Title : saheed sainiko ke shav ko boriyon me rakhne par logo me akrosh

जरूर देखिये