सरकार की वादा खिलाफी से नाराज अन्ना हजारे सत्याग्रह पर बैठे

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 02 Oct 2017 01:33 PM, Updated On 02 Oct 2017 01:33 PM

 

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे दिल्ली राजघाट पर एक दिन के सत्याग्रह पर बैठ गए है। सोमवार सुबह राष्ट्रपिता माहात्मा गांधी को श्रद्धाजली देने राजघाट पहुंचे अन्ना हजारे ने कहा मैं राजघाट पर गांधी को नमन करने आया हूं। आज व्यथित होने का एक कारण है। उन्होंने कहा कि मै दुखी नहीं हूं, दुखी स्वार्थी लोग होते है। अन्ना ने बापू को श्रद्धा सुमन आर्पित करने के बाद एक दिन के अपना सत्याग्रह शुरू कर दिया। 

नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

बीते दिनों अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक लेटर लिखकर भ्रष्टाचार और किसानों की समस्याओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी थी। उन्होने लेटर में लिखा था कि आंदोलन के छह साल बाद भी भ्रष्टाचार को रोकने वाला एक भी कानून नहीं बनाया गया। लोकपाल कि नियुक्ति और भ्रष्टाचार को रोकने वाले सभी सशक्त बिलों पर सरकार काम नहीं कर रही है। इन्ही तमाम मासलों को लेकर लिखे आने लेटर का अन्ना को अभी तक कोई जवाब नहीं मिला था। इसी को लेकर अन्ना ने आंदोलन करने का निर्णय लिया। 

Web Title : sarkar ki vada khilafi se naraj anna hazare satyagrah par baithe

जरूर देखिये