इस नक्सल प्रभावित इलाके में लौटी रौनक, 13 साल बाद शुरु हुए स्कूल

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 24 Jun 2019 04:30 PM, Updated On 24 Jun 2019 04:30 PM

सुकमा। बस्तर के धुर नक्सल प्रभावित इलाके जगरगुंडा मे दशकों बाद फिर रौनक़ लौटी है। 13 वर्षों बाद जगरगुंडा मे फिर से स्कूलों का संचालन शुरू हो गया है। सोमवार को बस्तर के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने स्कूल का शुभारम्भ किया।

बता दें कि यह स्कूल 2006 मे सलवा जूडूम अभियान के दौरान बंद हुआ था। प्रदेश सरकार और मंत्री कवासी लखमा के प्रयास से यह स्कूल फिर से शुरु हुआ। 13 वर्षों बाद जगरगुंडा मे स्कूल शुरू होने से लोगों मे उत्साह का माहौल नजर आया।

यह भी पढ़ें : उच्च शिक्षा मंत्री ने की इस यूनिवर्सिटी में धारा 52 लागू करने की घोषणा, कुलपति बर्खास्त 

गौरतलब है कि बस्तर के अंदरूनी इलाकों में स्कूलों को दोबारा शुरू कर सरकार फिर से उन इलाकों तक अपनी पकड़ मजबूत करना चाहती है। मंत्री लखमा चुनाव प्रचार के दौरान जगरगुंडा गए थे। तब पु्लिस उन्हें तार के सुरक्षा घेरे से बाहर पुलिस जाने नहीं दे रही थी लेकिन ग्रामीणों के अनुरोध पर लखमा स्कूलों को देखने गए और वहीं पर निर्देश दिया कि भवनों को सुधार कर वहां कक्षाएं संचालित की जाएं।

Web Title : Schools started after 13 years in Naxal affected area

जरूर देखिये