शिक्षाकर्मी संविलियन फर्जीवाड़े में 17 शिक्षाकर्मी, तत्कालीन BEO दोषी करार, दोषी शिक्षाकर्मियों से होगी रिकवरी

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 12 Feb 2019 11:16 AM, Updated On 12 Feb 2019 11:16 AM

राजनांदगांव : जिले के छुरिया ब्लॉक में शिक्षाकर्मियों के संविलियन में हुए फर्जीवाड़े में 17 शिक्षाकर्मी और तत्कालीन BEO को दोषी पाया गया है। विभागीय जांच के बाद रिपोर्ट शासन को सौंपी गई है। दोषी पाए गए 17 शिक्षाकर्मियों से प्रत्येक से एक लाख तीन हजार रुपये की वसूली करने का आदेश भी विभाग को दिया गया है। शिक्षा विभाग अब दोषी शिक्षाकर्मियों से रिकवरी की जाएगी।

ये भी पढ़ें- मप्र सरकार ने दायर की कैविएट, ट्रांसफर से नाराज अधिकारी कर सकते हैं हाईकोर्ट का रुख

आपको बता दें कि छुरिया ब्लॉक में फर्जी तरीके से शिक्षाकर्मियों का संविलियन करने के मामले में शिकायत हुई थी। जिस पर विभाग की ओर से जांच की गई। ब्लॉक ऑफिस के तत्कालीन BEO केएल कुंजाम और अन्य कर्मचारियों ने शिक्षाकर्मियों की सेवा पुस्तिका में छेड़छाड़ करते हुए 17 शिक्षाकर्मियों का गलत तरीके से संविलियन किया। जिसके बाद शिक्षाकर्मियों को सातवें वेतनमान और अन्य लाभ मिलने लगा। जबकि आठ साल या उससे ज्यादा सेवा देने वाले शिक्षाकर्मियों को ही संविलियन करने का आदेश सरकार ने जारी किया था।

Web Title : shikshaakarmee samviliyan Faziwada has 17 education personnel and BEO convicted, recovery from convicted culprits

जरूर देखिये