शिक्षकों को बड़ा झटका, रोकी गई संविलियन की प्रक्रिया

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 11 Oct 2018 02:02 PM, Updated On 11 Oct 2018 02:02 PM

भोपाल। मध्यप्रदेश में सरकार की ओर से जारी आदेश ने अध्यापकों को बड़ा झटका लगा है। अध्यापकों का मूल शिक्षा विभाग में संविलियन की प्रक्रिया रोक दी गई है। विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद आचार संहिता लगने के कारण शिक्षकों की संविलियन प्रकिया पर रोक लगा दिया गया है। इस आदेश के ने बाद लाखों अध्यापकों को नाराज कर दिया है। 

देखें वीडियो-

पढ़ें- कलेक्टर के फरमान के बाद व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन में खौफ बरकरार, तीन दिनों में दर्जनों ग्रुप समाप्त

राज्य में शिवराज सरकार ने 2 लाख 84 हजार अध्यापकों का मूल शिक्षा विभाग में संविलियन का आदेश दिया था। आचार संहिता लागू होने के बाद संविलियन की प्रक्रिया पूरी नहीं होने से 71 हजार शिक्षकों के तैयार संविलियन ऑर्डर रोके गए हैं। जबकि 1.25 लाख शिक्षकों के ऑर्डर तैयार होना बाकी था।  

पढ़ें- मुश्किल में मोदी सरकार, विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर महिलाओं ने लगाए गंभीर आरोप

वहीं शुरूआत में 41 हजार शिक्षकों के संविलियन जारी किया गया ऑर्डर का लाभ भी नहीं मिलेगा। क्योंकि आचार संहिता लागू होने से पहले अध्यापकों की संविलियन की प्रकिया पूरी नहीं हो सकी। इस लापरवाही का ठिकरा अधिकारी-कर्मचारियों पर फोड़ा जा रहा है। क्योंकि आदेश जारी होने के बावजूद वे संविलियन की प्रक्रिया पूरी करने में नाकाम रहे। आचार संहिता लगने के बाद अब संविलियन की प्रकिया पर रोक लगा दी गई है। इस फैसले शिक्षक वर्ग काफी परेशान है। शिक्षकों को इस बात की भी चिंता सता रही है कि अगली सरकार संविलियन की प्रकिया पर क्या फैसला लेगी। 

 

वेब डेस्क, IBC24

 

Web Title : Shikshakarmi News:

जरूर देखिये