सिलावट ने मिलावट के खिलाफ दिए सख्त निर्देश, स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं किया जाएगा बर्दाश्त

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 22 Jul 2019 03:57 PM, Updated On 22 Jul 2019 03:45 PM

भोपाल । लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने सोमवार को खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिये की यूरिया जैसे घातक पदार्थ मिलाकर सिंथेटिक दूध और उससे मावा, पनीर आदि अन्य उत्पाद बनाने और बेचने वालों के विरुद्ध रासुका के तहत सख्त कार्यवाही की जाए। बैठक में नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन रविन्द्र सिंह और संयुक्त नियंत्रक डी.के. नागेन्द्र उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें- बेडरुम में आपकी हर हरकत पर लगे हैं गूगल के कान, देखिए कैसे किया जा ...

मंत्री सिलावट ने कहा कि सिंथेटिक दूध और इससे बने अन्य दुग्ध उत्पाद आमजन के स्वास्थ्य के लिये बहुत घातक हैं। उन्होंने कहा कि मिलावटखोरों को आम आदमी के स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं करने देंगे। सिलावट ने अधिकारियों से कहा कि राज्य और जिला स्तर पर इस तरह की घातक गतिविधियाँ संचालित करने वालों की धर-पकड़ के लिये उड़न दस्ता बनाकर कार्यवाही करें।

ये भी पढ़ें- मोस्ट वांटेड आतंकी सरगना हाफिज सईद गिरफ्तार, भारत को मिली बड़ी कूटन...

मंत्री सिलावट ने कहा कि सभी संभागीय कमिश्नर, जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से भी ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध रासुका जैसे सख्त कानून में कार्यवाही करने के लिये कहा जा रहा है। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिम्मेदार अधिकारियों पर भी कार्यवाही में शिथिलता बरतने अथवा जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं करने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी।

Web Title : Silvat strict instructions against adulteration

जरूर देखिये