एसपी कॉन्फ्रेंस, सीएम भूपेश बघेल बोले- नक्सलियों से लड़ाई में हमने बहुत खोया है, सख्ती से निपटें

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 06 Jun 2019 10:27 PM, Updated On 06 Jun 2019 10:27 PM

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में गुरुवार को मंत्रालय में प्रदेश के सभी जिलों के एसपी की कॉन्फ्रेंस संपन्न हुई। इस दौरान अधिकारियों से प्रदेश की समस्याओं पर चर्चा की गई और कई आवश्यक निर्देश भी दिए गए। वहीं, इससे पहले सीएम भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टरों की बैठक ली थी। कलेक्टरों की बैठक लगभग 5 घंटे तक चली। इस दौरान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, मुख्य सचिव, डीजीपी, सभी रेंज के पुलिस महानिरीक्षक, संभागायुक्त, कलेक्टर्स और एसपी मौजूद रहे।

Read More: भूपेश की चौपाल में जाने से मुख्य सचिव को रोकने वाला TI सस्पेंड, कांग्रेस के ही राज्यसभा सांसद ने निलंबन पर उठाए सवाल

कॉन्फ्रेंस के दौरान सीएम ने सभी जिलों के एसपी को निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस के आला अधिकारी थानों की सरप्राइज विजिट करेंगे। हर थाने में ग्रामीण जन अपनी बात रख सकें, इसलिए थाने में तैनात पुलिस के जवानों को स्थानीय भाषा बोली की समझ होना चाहिए। लोगों को यह महसूस होना चाहिए कि पुलिस हमारी सुरक्षा के लिए है।राष्ट्रीय राजमार्ग के सभी गांवों में गौठान योजना शुरू किया जाए, जिससे मवेशी सड़क पर नहीं आएंगे। इससे मवेशी के कारण होने वाली दुर्घटनाओं में कमी आएगी। अवैध शराब विक्रय रोकने, मानव तस्करी रोकने प्रभावी कदम उठाने और यातायात की व्यवस्था सुधारने के दए गए निर्देश।

Read More: सहारा इंडिया ऑफिस में एजेंट ने लगाई आग, खाताधारकों को भुगतान ना किए जाने से था परेशान

सीएम भूपेश बघेल ने आगे कहा कि पुलिस गुंडों, बदमाशों और माफिया से सख्ती से निपटें और बाहरी लोगों की आवाजाही पर कड़ी नजर रखें। शराब की अवैध बिक्री और कोचियाओं पर लगाम लगाएं। नक्सल क्षेत्र में शासकीय योजनाओं का मिले लाभ। हर हाथ को मिले काम, फोर्स नक्सलियों से लोहा लें। कलेक्टर जीवन स्तर में सुधार हेतु
कार्य करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने नक्सलियों से बहुत खोया है, नक्सलियों से सख़्ती से निपटें। आदिवासियों का मन जीतना है। किसान, आदिवासी मज़दूरों के जीवन स्तर में सुधार के कार्य करने के निर्देश।

Read More: अब खैर नहीं चेन पुलिंग करने वालों की, चरित्र पर लगेगा ‘दाग’

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को नियम- कानूनों के संबंध में अपडेट रहने के निर्देश देते हुए कहा कि नियमित रूप से नियम-कानूनों की किताबें पढ़ते रहें। प्रदेश में पुलिसिंग की बारीकी से समीक्षा करें। अपराधों पर पुलिस को सख्ती से कार्रवाई करने की हिदायत दी गई। पुलिस अधिकारियों को गंभीरता से प्रयास करने के निर्देश। सड़क दुर्घटनाओं को रोकने दुर्घटनाजन्य क्षेत्र का चिन्हांकन करने के निर्देश। नागरिकों में ट्रैफिक सेंस विकसित करने निर्देश। आईजी रेंजवार कर रहे हैं समीक्षा, रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर आईजी रेंज की हो चुकी है समीक्षा।

Read More: मुख्यमंत्री ने एसपी कॉन्फ्रेंस में की चिटफंड कंपनियों के मामलों की समीक्षा, दिए ये निर्देश 

कोरबा जिले में कोयला ओवरलोडिंग पर सख्ती से कार्रवाई करने एसपी को निर्देश दिए गए। कोयला चोरी रोकने सूचना तंत्र मजबूत कर सख्ती से कार्रवाई के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए। सीमेंट प्लांट और कोयला खदानों से परिवहन करने वाले वाहनों में अनिवार्यत: नंबर प्लेट लगा हो। परिवहन के नियमों को तोड़ने वालों पर सख्ती हो कार्रवाई। वेइंग मशीन से शत-प्रतिशत खनिज वाहनों का वजन अनिवार्य रूप से मापे जाए। महासमुंद जिले में आवारा पशुओं से होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को रोकने अभिनव पहल किया गया है। यहां सींग पर लगाई रेडियम पट्टी, इससे दुर्घटनाओं में 30 प्रतिशत कमी आई है।

Read More: पीएम मोदी का बड़ा फैसला, नीति आयोग का होगा पुर्नगठन

इस दौरान चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्की के लिए कलेक्टर के समक्ष अंतरिम आदेश के लिए लंबित 44 प्रकरणों पर गंभीरता से इस महीने के अंत तक कार्रवाई करने कलेक्टर्स को निर्देश दिए गए। यह जानकारी दी गई कि चिटफंड कंपनियों पर कार्रवाई से प्रदेश में इनकी गतिविधियों पर लगाम लगी है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में माइक्रो फाइनेंस का कार्य करने वाली संस्थाओ की पूरी जानकारी रखने कलेक्टर एसपी को निर्देश दिए हैं।

Read More: 3 बार दरिंदों का शिकार बनने के बाद खत्म हो गई थी जीने की इच्छा, खाना-पीना छोड़कर युवती ने... 

मुख्यमंत्री ने चिटफंड और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों द्वारा आम जनता ठगी का शिकार न हों, इसके लिए पुलिस अधीक्षक और पुलिस के हर स्तर के अधिकारी को पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। सीएम भूपेश ने कोरिया में माइक्रो फाइनेंस कंपनी की गतिविधि पाए जाने की जानकारी मिलने पर नाराजगी जताई।इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि बलौदाबाजार जिले में चिटफंड कंपनी एसयूएस की 35 लाख रुपए की संपत्ति कुर्की की कार्रवाई की गई है।

Read More: डीकेएस अस्पताल के अधीक्षक पद से हटाए गए डॉ केके सहारे, जानिए किन्हें मिला प्रभार

कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री बघेल ने बेसिक पुलिसिंग को मजबूत करने, कानून-व्यवस्था बिगड़ने की स्थिति निर्मित होने पर त्वरित रिस्पांस कर स्थिति पर नियंत्रण के निर्देश दिए। उन्होंने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए थाना प्रभारियों और आरक्षकों को संवेदनशील बनाने की हिदायत दी।

Web Title : SP conference with CM bhupesh baghel done today

जरूर देखिये