तीन में से एक बच्चा जापानी बुखार से पीड़ित , रोकथाम के लिए उठाए गए कदम

 Edited By: Vivek Mishra

Published on 22 Jun 2019 06:24 PM, Updated On 22 Jun 2019 06:24 PM

रायपुर। छत्तीसगढ़ के जगदलपुर मेडिकल कॉलेज डिमरापाल में बुखार से पीड़ित होकर भर्ती हुए 3 बच्चों में एक बच्चे को जापानी बुखार (जापानी इंसेफेलाइटिस) पॉजिटिव पाया गया, जबकि दो बच्चों के खून के नमूनों में जापानी इंसेफेलाइटिस नहीं पाए गया। जैपेनिज इंसेफेलाइटिस पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह मुस्तैद है और इस पर नियंत्रण के लिए प्रभावी कदम उठाए गए हैं।

ये भी पढ़ें: 'राइट टू वॉटर' कानून बनाने वाला बनेगा ये पहला राज्य, जानिए पीएचई मंत्री ने क्या कहा

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार विकासखंड बकावंड के ग्राम चोलनार निवासी मंगलू के चार वर्षीय पुत्र भुवनेश्वर उर्फ भवानी 10 जून से बुखार से पीड़ित था। परिजनों ने उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बस्तर में उपचार हेतु लाया जहां चिकित्सक द्वारा इलाज किया गया मरीज की स्थिति में सुधार नहीं होने पर 18 जून को मेडिकल कॉलेज जगदलपुर लाया गया। मरीज का उपचार मेडिकल कॉलेज जगदलपुर में विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा जारी था, लेकिन 20 जून को उपचार के दौरान रात 8.15 बजे भवानी की मृत्यु हो गई।

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के भाटपाड़ा में फिर हिंसा, बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल के जाने के बाद 

बच्चे के खून के नमूनों में जैपेनिज इंसेफेलाइटिस पॉजीटिव पाया गया। अन्य भर्ती 2 बच्चों में से उपचार पश्चात एक को डिस्चार्ज किया जा चुका है और दूसरे बच्चे की स्थिति में सुधार को देखते हुए शीघ्र डिस्चार्ज किए जाने की संभावना है। लिहाजा ग्राम के लोगों को मच्छरदानी का उपयोग करने की सलाह दी गई है। आसपास में पानी जमा होने देने एवं किसी को भी बुखार होने पर इसकी सूचना मितानिन एवं नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र में देने की अपील की गई है। चिकित्सीय दल द्वारा पूरे क्षेत्र की सतत निगरानी की जा रही है।

Web Title : Steps taken for the prevention of one of three children with Japanese fever

जरूर देखिये