सुआ नृत्य का बना वर्ल्ड रिकॉर्ड, 10 हजार महिलाओें ने किया सुआ नृत्य

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 29 Oct 2017 05:12 PM, Updated On 29 Oct 2017 05:12 PM

दुर्ग में रविरार को भव्य सुआ महोत्सव का आय़ोजन किया गया. महोत्सव में करीब 10 हजार महिलाओं ने एक साथ सुवा नृत्य कर एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. यह रिकॉर्ड गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है. 

महोत्सव में सीएम रमन सिंह, राजेश मूणत के साथ बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद, कार्यक्रम को देखने दर्शकों की भारी भीड़ जुटी. इस कार्यक्रम का उद्देश्य छत्तीसगढ़ के सुआ नृत्य को बढ़ावा देना है, ताकि आधुनिकता के दौर में गुम हो रहे छत्तीसगढ़ की लोक कलाओं को जीवंत रखा जा सके

दुर्ग के मानस भवन में पांच-पांच, छह-छह घंटे चल रहे रिहर्सल में कार्यक्रम की संयोजिका और भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडेय खुद डांस स्टेप कर सुआ नृत्य करना सिखाया.  

पारंपरिक वेशभूषा में महिलाएं ने किया सुआ नृत्य

गोदना सांस्कृतिक मंच के कार्यक्रम को भव्य बनाने और सभी महिलाएं एक सा स्टेप करें, इसके लिए सभी जिलों में दो सौ से ज्यादा ट्रेनर और 20 कोरियोग्राफर डांस की ट्रेनिंग दिए थे। सुआ नृत्य के दौरान सभी दस हजार महिलाएं एक तरह की साड़ी और चूड़ियां पहनी नज़र आईं।

माथे पर बिंदी एक सी थी और पारंपरिक गहने भी एक ही तरह के थे। आपको बता दें कि दीवाली के बाद जब छत्तीसगढ़ की महिलाएं खेतों में धान काटने जाती हैं, तो पारंपरिक सुआ गीत गाते हुए नृत्य भी करती हैं। मिट्टी के तोते से अपने सुख-दुख की बातें महिलाएं सुआ गीत के माध्यम से करती हैं।

 

वेब डेस्क, IBC24

 

Web Title : Suva Festival will give new culture to the folk culture of the state

जरूर देखिये