भले रोल जाए, पर काउच पर न जाएं - कास्टिंग काउच पर स्वरा भास्कर

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 07 Nov 2017 04:42 PM, Updated On 07 Nov 2017 04:42 PM

 

‘पहले ही हफ्ते में वह प्यार और सेक्स  की बातें करने लगा और एक रात वह शराब पीकर मेरे कमरे में आया और मुझे गले लगाने को कहने लगा. यह डरावना था...'  

आप सोच रहे होंगे कि ये क्या है और किसने किसके बारे में कहा है? हम बताएंगे पूरा माजरा, लेकिन उससे पहले ये बता दें कि बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर के इस बोल्ड बयान ने एक बार फिर से बॉलीवुड में कास्टिंग काउच को लेकर लंबे समय से लग रहे आरोपों को हवा दे दी है। स्वरा भास्कर ने अपने एक इंटरव्यू में कहा है कि एक फिल्म की करीब दो महीने की आउटडोर शूटिंग के दौरान निर्देशक ने उन्हें इतना ज्यादा परेशान किया कि उससे बचने के लिए उन्हें एक्ज़ीक्यूटिव प्रोड्यूसर से अपने लिए किसी को हर वक्त साथ रखने की सुरक्षा मांगनी पड़ी। 

शिकार को मुर्दा करने के लिए टाइगर जिंदा है - ट्रेलर देखें

अपने बोल्ड बयानों और ट्वीट्स को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाली स्वरा भास्कर ने बॉलीवुड में अपने अनुभव को साझा करते हुए कहा कि उस फिल्म का डायरेक्टर किसी-किसी पूरी रात फोन करता था, कभी डिनर पर इनवाइट करता, कभी पीछा करता। एक बार फिल्म के किसी सीन पर चर्चा के लिए डायरेक्टर के कमरे में जाने को कहा गया और जब वहां पहुंची तो वो शराब पी रहा था। तब हम मुश्किल से एक हफ्ते तक शूटिंग में साथ थे, लेकिन एक हफ्ते में ही वो प्यार, सेक्स की बातें करने लगा और एक बार तो शराब पीकर मेरे कमरे में आकर लगे लगाने को ही कहने लगा।

सनी लिओनी के कुछ अलग अंदाज

स्वरा भास्कर ने माना कि उन्हें बॉलीवुड में एंट्री के लिए कास्टिंग काउच का शिकार बनाने की कोशिश की गई थी और सेक्सुअल फेवर नहीं करने पर काम से निकाल भी दिया गया था। फिल्मों के सेट्स पर शूटिंग के अनुभव के बारे में स्वरा का कहना है कि यहां सुरक्षा बढ़ाई जानी चाहिए क्योंकि कुछ लोग ऑर्डर देते हैं, बाकी ऑर्डर मानने पर मजबूर होते हैं और इस स्थिति का फायदा उठाकर किसी का सेक्सुअल हैरासमेंट किया जा सकता है।

बच्चन परिवार ऐश के लिए कर रहा खेती

बॉलीवुड में कास्टिंग काउच कोई नया मामला नहीं है, पहले भी इस तरह के आरोप लगते रहे हैं। एक टीवी चैनल के स्टिंग में बॉलीवुड के एक मशहूर खलनायक को कैमरे पर ये कहते देखा गया था कि किस तरह कई नामी हिरोइनों के साथ भी जानेमाने निर्देशकों के हाथों कास्टिंग काउच का शिकार होना पड़ा था। स्वरा भास्कर ने नवोदित अभिनेत्रियों को नसीहत दी है कि अगर वो इस तरह के शोषण यानी कास्टिंग काउच से बचना चाहती हैं तो उनके पास सिर्फ एक ही तरीका है और वो है ना कहना। इस ना की कीमत भले ही उन्हें रोल छिन जाने, फिल्म से बाहर कर दिए जाने के रूप में चुकानी पड़ सकती है, लेकिन रोल के लिए गलत शर्तों के आगे झुकने का मतलब है किसी गलत काम के लिए रिश्वत देना।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Swara Bhaskar on Casting Couch Losing a role is alright but losing one's integrity is unacceptable

जरूर देखिये