10 करोड़ की लागत से बने इस अस्पताल में अब तक तैयार नहीं हुआ आईसीयू वार्ड

Reported By: Shalini Hardia, Edited By: Vivek Mishra

Published on 22 Jun 2019 12:25 PM, Updated On 22 Jun 2019 12:03 PM

इंदौर। मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने के लिए कई प्रयास किए जा रहे है। कई सरकारी अस्पताल खोले जा रहे है तो कहीं नई बिल्डिंग का निर्माण कार्य जारी है। इंदौर में एमवाय अस्पताल का लोड कम करने के लिए शासकीय पीसी सेठी अस्पताल की 100 बिस्तरों की नई बिल्डिंग बनाई गई। 10 करोड़ में बनकर तैयार अस्पताल में महिलाओं के स्वास्थ्य सुविधा को बेहतर विकल्प के रूप में खोला गया है।

ये भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री कर रहे पोल्ट्री सेमिनार कार्यक्रम में शिरकत, राज्यसभा सांसद संतोष पांडेय भी मौजूद

लेकिन अस्पताल में अव्यवस्थाओं का दौर जारी है। पीडब्ल्यूडी की कछुआ चाल के चलते उद्घाटन के 9 महीने बाद भी पीसी सेठी अस्पताल में बच्चों के आईसीयू वार्ड बनकर तैयार नहीं हो पा रहे हैं। इस वजह से 10 करोड़ की लागत वाला अस्पताल का उद्घाटन अभी अधूरा सा लगता दिखाई दे रहा है। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने पीसी सेठी अस्पताल को इंदौर ही नहीं प्रदेश का मॉडल अस्पताल बनाने का दावा किया था, लेकिन पीडब्ल्यूडी एजेंसी की लेटलतीफी के चलते उद्घाटन के 9 महीने के बाद भी अस्पताल पूरी तरह से चालू नहीं हो पाया है।

ये भी पढ़ें: 20 मिनट तक चली सीएम कमलनाथ के हाथ की सर्जरी, फैमिली डॉक्टर भी रहे मौजूद

योजना के अनुसार पीसी सेठी अस्पताल में 46 बेड का बच्चों का आईसीयू वार्ड बनाना है। मगर अभी तक काम आधा अधूरा ही पड़ा हुआ है, पीडब्ल्यूडी की एजेंसी पीआईयू के कारण बच्चों के आईसीयू वार्ड का काम अटका पड़ा है। तीन महीने के बाद उद्घाटन को 1 वर्ष होने जा रहा है, लेकिन फिर भी कई ऐसे काम अभी भी अधूरे है।

ये भी पढ़ें: साउथैम्पटन में चौथी जीत पर रहेगी टीम इंडिया की नजर, अफगानिस्तान से मुकाबला आज

वहीं स्वास्थ्य विभाग आचार संहिता का हवाला देते हुए इसे जल्द ही काम पूरा करवाने की बात कहता दिखाई दे रहा है। गौरतलब है कि पीसी सेठी अस्पताल को विशेष महिला और बच्चों के लिए बनाया गया है। लेकिन अब तक व्यवस्थाओं की कमी के साथ ही अस्पताल में मरीजों को परेशानी के साथ ही जूझना पड़ रहा है।

Web Title : The 9-month full of inauguration, built at a cost of 10 crores, is not yet ready in the ICU ward

जरूर देखिये