The case of self-sacrifice outside the SP's office, order of departmental inquiry, IG's meeting with the victim's family | एसपी कार्यालय के बाहर आत्मदाह का मामला, विभागीय जांच के आदेश, आईजी ने की पीड़ित परिवार से मुलाकात

एसपी कार्यालय के बाहर आत्मदाह का मामला, विभागीय जांच के आदेश, आईजी ने की पीड़ित परिवार से मुलाकात

Reported By: Narendra Parmar, Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 10 Jul 2019 10:08 AM, Updated On 10 Jul 2019 10:08 AM

छतरपुर। कन्हैया लाल अग्रवाल द्वारा एस पी आफिस के बाहर पेट्रोल डालकर लगाई गई आग के मामले में सागर रेंज के आईजी सतीश सक्सेना ने छतरपुर का दौरा कर घटना स्थल का जायजा लिया। और पीड़ित परिवार से मुलाकात की। इसके साथ ही उन्होने घटना की विभागीय जांच के आदेश दिए है।

read more : कर्नाटक का सियासी संकट : कुमारस्वामी को 17 जुलाई को साबित करना पड़ेगा बहुमत, विधायकों का इस्तीफा नामंजूर

जांच का जिम्मा छतरपुर रेंज के डीआईजी अनिल माहेश्वरी को दिया गया है। इस दौरान आईजी ने सख्त लहजे में कहा है कि पीड़ित युवक की शिकायत पर हीला हवाली करने बाले दोषी पुलिस कर्मचारियों और अधिकारियों को बख्शा नही जाएगा।

read more : क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019​ : बारिश से रूका मैच आज होगा पूरा, 46.1 ओवर से आगे खेलेगी न्यूजीलैंड, आज भी बारिश की संभावना

गौरतलब है कि न्याय पाने के लिए कन्हैयालाल अग्रवाल सिटी कोतवाली थाना पुलिस के अनदेखी से तंग आकर एसपी से मिलने के लिए सोमवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय आया था लेकिन आफिस में बैठे एसपी से जब वह अपनी पीड़ा नही बता पाया तो उसने हताश होकर पेट्रोल डालकर खुद को आग लगा ली उसके बाद मंगलवार की सुबह बुरी तरह जल चुके कन्हैयालाल अग्रवाल की ईलाज के दौरान मौत हो गई थी।

read more : अतिक्रमण हटाने गए प्रशास​निक अमले और आदिवासियों के बीच गोलीबारी, 5 युवक घायल, मामले को दबाने में जुटा प्रशासन

जाहिर है पुलिस के बिगड़े हुए सिस्टम से न्याय पाने की कीमत एक युवक को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी है जो पुलिसिया कार्यवाही औऱ कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह है। लेकिन अब रेंज के आईजी ने पीड़ित परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया है। अब देखना यह है कि पीड़ित को न्याय और दोषी पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को सजा दिला पाती है या नही।

Web Title : The case of self-sacrifice outside the SP's office, order of departmental inquiry, IG's meeting with the victim's family

जरूर देखिये