रायपुर के 70 वार्डों का परिसीमन पूरा, 8 वार्ड के नाम बदले जाएंगे, राजनीतिक दलों ने उठाई यह आपत्ति

Reported By: Sandeep Shukla, Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 25 Jun 2019 05:41 PM, Updated On 25 Jun 2019 05:17 PM

रायपुर। जिला निर्वाचन कार्यालय ने...जिला निर्वाचन कार्यालय ने रायपुर नगर निगम के 70 वार्डों के  परिसीमन का प्रारंभिक प्रकाशन कर दिया है। कुल वार्डों की संख्या नहीं बढ़ी है लेकिन अब एक वार्ड की जनसंख्या 14 हजार 9 सौ 74 होगी। 70 वार्डों में से 8 वार्ड के नाम बदले गए हैं, पुराने नाम वार्ड विलोपित हो गए हैं। परिसीमन की कॉपी निगम मुख्यालय के कक्ष क्रमांक 502 में चस्पा की गई है। वार्ड के निवासी इस पर अगले 7 दिन तक दावा आपत्ति कर सकते हैं।

बताया जा रहा है कि रायपुर की 10 लाख 48 हज़ार 120 जनसंख्या को आधार मानकर यह परिसीमन किया गया है। परीसीमन 2011 की जन गड़ना के आधार पर हुआ है। हालांकि  राजनीतिक दलों ने परिसीमन पर एक बड़ी आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि परिसीमन 2011 की जनगणना 10 लाख 48 हजार 120 के आधार पर किया गया है जबकि रायपुर शहर की जनसंख्या लगभग 15 लाख तक पहुंच गई है। आउटर में कॉलोनी और बस्ती बस गई है। वहीं बड़ी संख्या में बीएसपी मकान भी बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : भीमा मंडावी मौत के मामले में HC का निर्देश, गृहमंत्री ने कहा- शासन को कोई झटका नहीं 

राजनीतिक दलों का कहना है कि ऐसे में सन 2011 के अनुसार परिसीमन करने से लगभग 500000 की आबादी परिसीमन के रिकॉर्ड से छूट जाएगी जिसका असर वार्ड के विकास में भी पड़ेगा। राजनीतिक पार्टियों का दूसरा तर्क यह भी है कि 2 साल बाद 2021 में फिर से जनगणना होगी उस समय लगभग 5 से 600000 लोगों को फिर से जनसंख्या में जोड़ा जाएगा और एक बार परिसीमन की फिर से जरूरत पड़ेगी। ऐसे में जिला निर्वाचन कार्यालय को चाहिए था कि आउटर एरिया का सर्वे कराकर फिर से परिसीमन कराया जाए ताकि उसमें नई जनसंख्या या नया बसे लोगों को भी जोड़ा जा सके।

Web Title : The delimitation of 70 wards in Raipur is over

जरूर देखिये