मेरिट आधार पर भर्ती का विरोध, अतिथि शिक्षक मंत्री बंगले में ही बैठ गए धरने पर

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 25 Jun 2019 02:51 PM, Updated On 25 Jun 2019 02:51 PM

भोपाल। मध्यप्रदेश में अतिथि शिक्षक शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी के निवास पर पहुंचकर धरना देने बैठ गए हैं। अतिथि शिक्षक अपनी मांगों को लेकर मंत्री बंगले के अंदर ही धरने पर बैठ गए हैं। वे मेरिट के आधार पर भर्ती का विरोध कर रहे हैं।

अतिथि शिक्षकों की मांग है कि अनुभव के आधार पर भर्ती होनी चाहिए। उनका आरोप है कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में अतिथि शिक्षको से वादा किया था कि 90 दिन के अन्दर गुरुजी के तर्ज पर भर्ती करेंगे। लेकिन कांग्रेस ने अब तक अपना वचन नहीं निभाया है। बता दें कि प्रदेश में नया शिक्षण सत्र 24 जून से शुरु हो गया है। इसके बावजूद शासन की ओर से अभी तक अतिथि शिक्षकों को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में फिर शर्मसार हुई मानवता, 5 साल की मासूम के साथ पहले रेप फिर बुरी तरह किया घायल 

वहीं, 15 जून तक अतिथि शिक्षकों का वेरिफिकेशन होना था, लेकिन प्रदेश के कई स्थानों पर शिक्षकों का वेरिफिकेशन बंद कर दिया गया। ऐसे में अतिथि शिक्षकों का कहना है वेरिफिकेशन नहीं होने से वे स्कूलों में पढ़ाने के लिए पात्र नहीं हो पाएंगे। दरअसल सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की काफी कमी है। ऐसे में अतिथि शिक्षकों के भरोसे ही कई स्कूलों का संचालन किया जा रहा है।

Web Title : The guest teacher protest in the minister's bungalow only

जरूर देखिये