वन विभाग के एसडीओ के पास अकूत संपत्ति का खुलासा, कार्रवाई में 13 बैंक अकाउंट, लॉकर, हॉस्टल, घर और कई प्लॉट मिले

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 23 Dec 2018 12:18 PM, Updated On 23 Dec 2018 12:21 PM

इंदौर। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही कमलनाथ एक्शन मोड पर हैं। इंदौर के वन विभाग के एसडीओ आरएन सक्सेना के ठिकानों में लोकायुक्त ने छापा मारा है।

पढ़ें- लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई, 4500 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों धराया हाउसिंग बोर्ड का क्लर्क

अब तक के कार्रवाई में सक्सेना के पास तीन हॉस्टर, दो मकान, चाचा ससुर के नाम पर मकान और प्लाट की जानकारी मिली है। एक प्लाट बेटे के नाम पर है। दो स्कूटर, एक कार, साढ़े तीन लाख रूपए नगद, जेवरात, प्लाईवुड फैक्ट्री, 48 लाख रूपए कीम की जमीन और 13 बैंक एकाउंट और 1 लॉकर मिले हैं। अफसरों की कार्रवाई जारी है, छापे में मिली संपत्ति का पूरा ब्यौरा कार्रवाई के बाद बताई जाएगी। कांग्रेस की सरकार बनते ही कमलनाथ का रवैया काफी सख्त नजर आ रहा है। कलेक्टर, एसपी के तबादले के बाद घूसखोरी पर भी शिकंजा कसी जा रही है।

इससे पहले लोकायुक्त ने शनिवार को एमपी हाऊसिंग बोर्ड पदस्थ एक क्लर्क को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। उसने फरियादी से मकान की लीज के नवीनीकरण के लिए रिश्वत मांगी थी, जिस पर उसने लोकायुक्त पुलिस में शिकायत कर दी थी।

पढ़ें- नहीं रहे ‘इश्क में हम तुम्हें क्या बताएं’ जैसी गज़ल लिखने वाले अखलाक...

लोकायुक्त ने भरतपुरी स्थित एमपी हाऊसिंग बोर्ड के कर्मचारी आनंद शर्मा को रिश्वत मांगने और लेने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। आनंद अपने विभाग में क्लर्क के पद पर पदस्थ है। उस पर आरोप था कि उसने फरियादी मनोज शर्मा से मकान की लीज के नवीनीकरण करने के लिए चार हजार पांच सौ रूपए की रिश्वत मांगी थी। मनोज ने रिश्वत मांगे जाने पर जागरूकता दिखाते हुए लोकायुक्त कार्यलय उज्जैन में लिखित शिकायत की,

Web Title : The Lokayukta's raid on the SDO of Forest Department

जरूर देखिये