The pain of a soldier again on social media | BSF जवान ने कहा- मजबूर मत करो, परिवार को न्याय नहीं मिला तो उठा लूंगा हथियार

BSF जवान ने कहा- मजबूर मत करो, परिवार को न्याय नहीं मिला तो उठा लूंगा हथियार

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 06 Feb 2018 12:03 PM, Updated On 06 Feb 2018 12:03 PM

BSF जवान सीमा पर देश की रक्षा के लिए अपनी जान तक कुर्बान कर देते हैं, लेकिन देश के लिए मर मिटने वाले जवान का ही परिवार सुरक्षित न हो तो? सवाल उठना लाज़मी है. सोशल मीडिया पर एक BSF जवान का वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में ये जवान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगा रहा है. जवान का नाम अजय सिंह है।

ये भी पढ़ें- शिवराज का शहीद राम अवतार के लिए बड़ा ऐलान, परिजनों को 1 करोड़ कैश, पेंशन और मिलेगा फ्लैट

BSF जवान अजय सिंह वीडियो में कह रहा है कि अगर उसे न्याय नहीं मिला तो वह देश की जगह अपने घर की सुरक्षा के लिए हथियार उठा लेगा. पुलिस रवैये से त्रस्त होकर उसने वीडियो के जरिए यह चेतावनी जारी की है. थाना गंगोह के गांव तातारपुर के इस बीएसएफ जवान ने कहा है कि मुझे इतना मजबूर मत करो,  मैंने सरहद की रक्षा के लिए हथियार उठाए हैं, लेकिन अब मैं अपने परिवार की रक्षा के लिए हथियार उठाऊंगा, जिसका जिम्मेदार पुलिस-प्रशासन होगा. जवान का कहना है कि वह सीमा पर देश की रक्षा के लिए मुस्तैद है, लेकिन यहां उसका परिवार खतरे में है।

जवान अजय सिंह का कहना है कि पट्टे की जमीन पर उगी फसल पर ट्रैक्टर चलवाकर पुलिस ने कब्जा करवा दिया. मेरे बुजुर्ग पिता को पीटा और तमाम धाराएं लगाकर जेल में डाल दिया. कॉलेज में पढ़ने वाली बहनों को वांछित कर दिया. गंगोह पुलिस ने तलाशी के नाम पर तोड़फोड़ मचाया. बीएसएफ जवान ने वीडियो में ग्राम प्रधान पर भी आरोप लगाए हैं. वह कह रहा है कि आखिर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हो रही, मेरी सुनवाई क्यों नहीं हो रही. वीडियो के अंतिम हिस्से में जवान ने देश और राज्य की भाजपा सरकार पर भी जवानों की न सुनने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें- भारत सरकार की एडवायजरी- जरूरी ना हो तो मालदीव की यात्रा पर ना जाएं

आपको बता दें कि जवान अजय कुमार बांग्लासदेश बॉर्डर पर तैनात है। 5 जनवरी को गांव तातारपुर में जवान के पिता सरदार सिंह, भाई प्रमोद कुमार व अन्य रिश्तेदारों को पुलिस ने जेल में डाल दिया और उनकी बहनों को वांछित घोषित कर दिया। इस मामले में सीओ गंगोह ने जांच रिपोर्ट में  पुलिसकर्मियों को क्लीनचिट दे दी है।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : The pain of a soldier again on social media

जरूर देखिये