महिला का बाॅयफ्रेंड है, तो किसी को उसके रेप का अधिकार नहीं मिल जाता - HC

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 26 Sep 2017 01:28 PM, Updated On 26 Sep 2017 01:28 PM

नो, ना, नहीं अपने आप में पूरा वाक्य होता है, इसे किसी स्पष्टीकरण या व्याख्या की जरूरत नहीं होती। यह एक फिल्म का डाॅयलाग है लेकिन बाॅम्बे हाईकोर्ट के एक महत्वपुर्ण फैसले पर यह डाॅयलाग एकदम सटीक बैठता है। हाईकोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा कि सिर्फ यह कि किसी महिला के दो पुरूष मित्र हैं तो इससे किसी तीसरे को उसका यौन उत्पीड़न करने का अधिकार नहीं मिल जाए, नहीं।

नाबालिग से दो घंटे तक गैंगरेप

दरअसल, सोमवार को पोक्सो एक्ट के तहत दोषी करार एक व्यक्ति को जमानता देने से कोर्ट ने इनकार करते हुए यह टिप्पणी की। पोक्सो कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए गए व्यक्ति ने दलील दी थी कि पीड़ित महिला के दो अन्य पुरूष मित्रों के साथ संबंध थे।

वन नाइट स्टैंड शादी नहीं

जिस पर जस्टिस ने आदेश में कहा कि एक महिला के किसी से संबंध हो सकते हैं, लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि, इसका अन्य भी फायदा उठाएं। महिला को किसी को भी न कहने का पूरा हक है। मामले में आरोपी व्यक्ति को पोक्सो कोर्ट ने पिछले साल 10 साल की सजा सुनाई थी। 

नाबालिक लड़के ने किया 65 साल की बुजुर्ग महिला से रेप

Web Title : The woman has a boyfriend, so nobody gets the right to rape her - HC

जरूर देखिये