थ्रोट इन्फेक्शन बढ़ा सकता है परेशानी ,ध्यान देने योग्य बातें

 Edited By: Renu Nandi

Published on 25 Feb 2019 06:52 PM, Updated On 25 Feb 2019 06:52 PM

सेहत डेस्क। गले में दर्द का सबसे आम कारण वायरल संक्रमण होता है, जैसे सर्दी जुकाम या फ्लू। किसी वायरस से होने वाला गले में दर्द, अपने आप और घरेलू देखभाल के साथ ठीक हो जाता है।वैसे तो गले में दर्द का सबसे आम कारण वायरल संक्रमण होता है, जैसे सर्दी जुकाम या फ्लू। किसी वायरस से होने वाला गले में दर्द, अपने आप और घरेलू देखभाल के साथ ठीक हो जाता है।सामान्य तौर पर बुखार ठंड लगने के कारण या खांसी ,नाक बहना,छींकें आना शरीर और सिर में दर्द,मतली और उलटी आने से गले में दर्द रहता है। लेकिन गले में दर्द होने पर आपको इन जरूरी बातों का ध्यान रखना जरुरी है।

खुजली व खराश जैसी सनसनी
निगलने व बोलते समय दर्द का बढ़ना
निगलने में कठिनाई
गला सूखना
गर्दन और जबड़े की ग्रंथियों में सूजन व दर्द
टॉन्सिल में सूजन और लाल होना
कर्कश या धीमी आवाज.


गले में दर्द से कैसे करें बचाव
हाथ धोना: अपने हाथों को अच्छी तरह और बार-बार धोएं, खासकर टॉइलट के बाद, खाना खाने से पहले, छींकनें और खांसी करने के बाद अपने हाथ जरूर धोएं। खांसी और छींक: खांसते और छींकते समय अपने मुंह पर रुमाल या टीश्यू रखें और इस्तेमाल के बाद फेंक दें। अगर समय पर कोई चीज उपलब्ध ना हो तो, कोहनी में छींकने की कोशिश करें, और बाद में उसे धो लें।

Web Title : Throat infection can increase the discomfort

जरूर देखिये